दिल्ली पुलिस ने ‘बुल्ली बाई’ और ‘सुल्ली डील’ ऐप मामले में दाखिल की चार्जशीट

दिल्ली पुलिस ने ‘सुल्ली डील’ और ‘बुल्ली बाई’ ऐप मामले में कार्रवाई करते हुए दोनों ऐप के मुख्य आरोपी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है. बुल्ली बाई ऐप मामले के आरोपी नीरज बिश्नोई के खिलाफ धारा 153ए, 153बी, 354ए, 509 आईपीसी आर/डब्ल्यू 66, 67 आईटी एक्ट के तहत 2000 पेज का चार्जशीट दाखिल की है.

वहीं, ‘सुल्ली डील’ ऐप मामले के आरोपी ओंकारेश्वर ठाकुर के खिलाफ धारा 153ए, 153बी, 354ए(3) आईपीसी आर/डब्ल्यू 66, 67 आईटी एक्ट के तहत 700 पेज का चार्जशीट दाखिल की है.

बता दें कि ‘बुल्ली बाई’ और ‘सुल्ली डील’ ऐप मामले की जांच दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रेटेजिक ऑपरेशंस यूनिट कर रही है. अपमानजनक सुल्ली डील्स मोबाइल ऐप जुलाई 2021 में सामने आई थी, जहां मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें उनकी सहमति के बिना ऐप पर नीलामी के लिए डाल दी गई थीं. छह महीने बाद, मुस्लिम महिलाओं को परेशान करने और उन्हें निशाना बनाने की एक और घटना तब सामने आई जब दिल्ली की एक महिला पत्रकार ने दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि मोबाइल एप्लिकेशन पर कुछ अज्ञात लोगों द्वारा उन्हें निशाना बनाया जा रहा है.

ओंकारेश्वर ठाकुर. फोटो : सोशल मीडिया

इस बार, ऐप को बुल्ली बाई नाम दिया गया था. इसे यूएस-आधारित गिटहब प्लेटफॉर्म पर बनाया गया था. मामले के मुख्य आरोपी की पहचान नीरज बिश्नोई के रूप में हुई, जिसने बुल्ली बाई ऐप बनाया. सुल्ली डील्स ऐप के निर्माता ओंकारेश्वर ठाकुर को दिल्ली पुलिस ने 8 जनवरी को गिरफ्तार किया था.

बुल्ली बाई के पास अपमानजनक सामग्री के साथ पत्रकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, छात्रों और प्रसिद्ध हस्तियों सहित महिलाओं की कई तस्वीरें थीं. ऐप ने सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं को नीलामी के लिए सूचीबद्ध किया था.

नीरज बिश्नोई. फोटो : सोशल मीडिया

पंजाब केसरी खबर के अनुसार, आरोपी बिश्नोई को आईएफएसओ की टीम ने असम से पकड़ा था. टीम को लीड डीसीपी के.पी.एस. मल्होत्रा कर रहे थे. बिश्नोई असम के जोरहाट गांव का रहने वाला है और बी.टेक, कंप्यूटर साइंस के द्वितीय वर्ष में पढ़ाई कर रहा था. उसने अक्टूबर में, उन महिलाओं की एक सूची बनाई थी, जिन्हें वह अपने डिजिटल उपकरणों, एक लैपटॉप और सेल फोन पर ऑनलाइन बदनाम करना चाहता था. वह पूरे सोशल मीडिया पर महिला कार्यकर्ताओं को ट्रेस कर रहा था और उनकी तस्वीरें डाउनलोड कर रहा था. बिश्नोई की गिरफ्तारी के ठीक दो दिन बाद 25 वर्षीय ओंकारेश्वर ठाकुर को मध्य प्रदेश के इंदौर से पकड़ा गया था.

spot_img
1,711FansLike
253FollowersFollow
118FollowersFollow
14,500SubscribersSubscribe