सिकंदराबाद में भीषण आग लगने से 11 प्रवासी मजदूरों की मौत, मुआवजे का ऐलान

तेलंगाना के शहर सिकंदराबाद के भोईगुड़ा में आज तड़के एक लकड़ी के डिपो में अचानक भीषण आग लग गई जिसमें 11 लोगों के जिंदा जलने से मौत हो गई. वहीं, दो लोगों को बचा लिया गया है. जिस समय ये हादसा हुआ उस समय डिपो में 15 मजदूर मौजूद थे. जानकारी के मुताबिक 2 लोग घायल बताए जा रहे हैं.

लोगों ने इसकी सूचना दमकल विभाग को दी. सूचना पाकर पहुंची दमकल की गाड़ियां आग पर काबू पाने में जुटी हैं. खबर के मुताबिक, सभी मजदूर बिहार के रहने वाले थे. वे सभी बिहार से मजदूरी करने तेलंगाना राज्य पहुंचे थे.

हैदराबाद के ज़िला कलेक्टर एल. शरमन ने बताया कि सुबह 4 बजे आग लगी. जानकारी मिलने पर दमकल की टीम आई और आग पर काबू पाया. इस घटना में 11 लोगों की मौत हो गई.

दमकल कर्मियों ने बताया कि डिपो में लकड़ी होने के कारण आग तेजी से फैली. उन्होंने बताया कि पांच दमकल की गाड़ियों से आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि हमारे घटनास्थल पर पहुंचने से पहले ही पांच लोगों की मौत हो चुकी थी. राहत बचाव कार्य जारी है.

वहीं, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने सिकंदराबाद के भोईगुड़ा टिम्बर डिपो में आग लगने से बिहार के श्रमिकों की मौत पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने परिजनों को 5-5 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की और मुख्य सचिव को घटना में मारे गए श्रमिकों के शवों को भेजने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया.

समाचार एजेंसी एएनआई ने प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से ट्वीट कर बताया है कि ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हैदराबाद के भोईगुड़ा में आग में लोगों की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया है. इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं. मृतक के परिजन को PMNRF की ओर से 2-2 लाख रुपए की अनुग्रह राशि दी जाएगी.’

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe