कर्नाटक में हत्‍या के बाद मुसलमानों के घरों, दुकानों पर हमला, मुस्लिम विरोधी दंगे भड़काने की कोशिश

बजरंग दल के सदस्य हर्षा की हत्या के बाद कर्नाटक के शिमोगा जिले के विभिन्न इलाकों में दंगे भड़क उठे हैं. दंगों का विशिष्ट लक्ष्य वे इलाके प्रतीत होते हैं जहां मुख्यतः मुसलमान रहते हैं.

अलग अलग वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं उसमें आसानी से देखा जा सकता है कि पुलिस की मौजूदगी में बजरंग दल के कार्यकर्ता मुसलमानों के दुकानों पर हमला कर रहे हैं. दुकानों पर पत्थर फेंक रहे हैं, जिसमें साफ़ देखा जा सकता है कि दुकानों पर लगे शीशे टूट कर गिर रहे हैं. बजरंग दल के कार्यकर्ता हाथों में भगवा झंडा लेकर शोर मचा रहे हैं और दुकानों पर पत्थर फेंक रहे हैं.

एक अन्य वीडियो में देखा जा सकता है कि पत्थर फेकने के बाद मज़ार को जला दिया गया है जिसकी वजह से मज़ार को काफी नुकसान पहुंचा है.

हर्षा की हत्या किसने की, इस बारे में कोई स्पष्टता नहीं है, लेकिन राज्य में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं और भाजपा नेताओं का मानना ​​है कि हत्या के लिए मुस्लिम जिम्मेदार हैं.

हत्या के बाद, इलाके में कई वाहनों में आग लगा दी गई और स्थिति को बिगड़ने से रोकने के लिए जगह जगह पुलिस की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. प्रशासन ने सार्वजनिक समारोहों पर प्रतिबंध लगा दिया है और आदेश दिया है कि स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे.

पुलिस की प्रतिक्रिया के बावजूद, सोशल मीडिया पर एक वीडियो दंगा शुरू होने का सबूत देता है. बजरंग दल के सदस्यों को शिमोगा के आजाद नगर इलाके में मुस्लिम घरों पर पथराव करते देखा जा सकता है.

हर्ष 26 वर्षीय बजरंग दल का सदस्य था जो दर्जी का काम करता था. उन्हें अज्ञात व्यक्तियों द्वारा मारा गया और चिकित्सा सहायता के बावजूद, हर्ष ने दम तोड़ दिया. पुलिस ने हत्या के मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

अरागा ज्ञानेंद्र ने मीडिया से चर्चा में कहा, ‘हिजाब विवाद का इस घटना से कोई संबंध नहीं है और घटना कुछ अन्‍य कारणों से हुई है. शिवमोगा संवेदनशील शहर है.’ हालांकि उनके कार्यालय ने कहा है कि पुलिस हर एंगल से मामले की तफ्तीश कर रही है. आगजनी की घटनाओं के बाद बड़ी संख्‍या में पुलिसबल तैनात कर दिया गया है और लोगों के एकत्रित होने पर रोक लगा दी गई है. जिले में स्‍कूल और कॉलेज बंद रहेंगे. सीएम बासवराज बोम्‍मई ने कहा है कि पुलिस के कुछ सुराग मिले हैं और वह इस पर काम कर रही है.

एनडीटीवी से बात करते हुए एक पुलिस अधिकारी ने इन रिपोर्ट्स का खंडन किया कि हर्षा की हत्‍या का संबंध स्‍टूडेंट्स स्‍कूल-कॉलेज कैंपस में हिजाब मामले को लेकर मौजूदा विवाद से है. कर्नाटक के गृहमंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा कि हर्षा की हत्या में 4-5 लोग शामिल हो सकते हैं.  पुलिस को सुराग मिला है. जांच के बाद ही हत्या का कारण पता चलेगा. इसके पीछे किसी संगठन के हाथ के बारे में कोई जानकारी नहीं है. सुरक्षा के समुचित इंतजाम किए गए हैं. रात में कुछ विरोध प्रदर्शन हुए हैं, लेकिन अब स्थिति नियंत्रण में है. मामले में शिवमोगा जिले के डोडापेटे पुलिस स्‍टेशन में केस दर्ज किया गया है.

मीडिया ख़बरों के अनुसार, तनाव बढ़ता देख पूरे शिवमोगा में धारा 144 लागू कर दी गई है. वहीं स्कूल व कॉलेजों को भी बंद कर दिया गया है.

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe