RUSSIA UKRAINE WAR: 249 लोगों को लेकर एअर इंडिया की 5वीं उड़ान पहुंची भारत

रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट (Bucharest, capital of Romania) से रवाना हुई पांचवीं उड़ान आज दिल्ली में उतरी. उड़ान में 249 भारतीय नागरिक सवार थे. भारत सरकार ने ऑपरेशन गंगा (Operation Ganga) के तहत यूक्रेन से अब तक 2,000 भारतीयों को निकाला है. ‘ऑपरेशन गंगा’ के तहत बुखारेस्ट से 219 लोगों को लेकर रवाना हुआ पहला विमान शनिवार को मुंबई में उतरा था.

ईटीवी भारत की खबर के अनुसार, इससे पूर्व नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का कहना था कि यूक्रेन में फंसे हुए बाकी लोगों को सरकार जल्द से जल्द वापस लाने का प्रयास कर रही है. अधिकारियों ने कहा कि दूसरी उड़ान (एआई1942) 250 भारतीय नागरिकों को लेकर बुखारेस्ट से रवाना हुई और रविवार रात लगभग 2.45 बजे दिल्ली हवाई अड्डे पर उतरी. वहीं, बुडापेस्ट से 240 लोगों को लेकर चली तीसरी निकासी उड़ान रविवार को सुबह 9.20 बजे दिल्ली हवाई अड्डे पर उतरी. इसके बाद बुखारेस्ट से टाटा समूह द्वारा संचालित एक अन्य कंपनी की उड़ान 198 भारतीय नागरिकों को लेकर शाम 5.35 बजे दिल्ली पहुंची.

एअर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि विमानन कंपनी रविवार को बुखारेस्ट तथा बुडापेस्ट में दो और विमान भेजने की योजना बना रही है ताकि वे पांचवीं और छठी निकासी उड़ानें संचालित कर सकें. इससे पहले सुबह नागरिक उड्डयन मंत्री सिंधिया ने यूक्रेन से लौटे भारतीयों को गुलाब का फूल देकर हवाई अड्डे पर उनका स्वागत किया. वापस लौटे लोगों से सिंधिया ने कहा, ‘मैं जानता हूं कि आप सभी बहुत, बहुत कठिन दौर से गुजरे हैं, बहुत कठिन समय रहा. लेकिन यह जान लीजिए कि प्रधानमंत्री हर कदम पर आपके साथ हैं, भारत सरकार हर कदम पर आपके साथ है और 130 करोड़ भारतीय हर कदम पर आपके साथ हैं.

यूक्रेन के अधिकारियों ने 24 फरवरी की सुबह यात्री विमानों के परिचालन के लिए अपने देश का हवाई क्षेत्र बंद कर दिया था, इसलिए भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए ये उड़ानें बुखारेस्ट और बुडापेस्ट से परिचालित की जा रही हैं. अधिकारियों ने बताया कि जो भी भारतीय नागरिक सड़क मार्ग से यूक्रेन-रोमानिया और यूक्रेन-हंगरी सीमा पर पहुंचे थे, उन्हें भारत सरकार के अधिकारियों की मदद से सड़क मार्ग से क्रमश: बुखारेस्ट और बुडापेस्ट ले जाया गया ताकि उन्हें एअर इंडिया की उड़ान के जरिए स्वदेश लाया जा सके.

विदेश मंत्रालय ने युद्धग्रस्त यूक्रेन से भारतीयों को वापस लाने में सहायता करने के लक्ष्य से रविवार को एक आधिकारिक ट्विटर हैंडल ऑपगंगा हेल्पलाइन की शुरुआत की. यूक्रेन में फंसे हुए भारतीयों को वापस लाने के अभियान को ऑपरेशन गंगा नाम दिया गया है. भारत ने पहले ही पोलैंड, रोमानिया, हंगरी और स्लोवाकिया में 24 घंटे के नियंत्रण कक्ष स्थापित किये हैं ताकि इन देशों से लगने वाली यूक्रेन की सीमा से जरिये भारतीयों को निकाला जा सके.

बता दें कि रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia-Ukraine crisis) के बीच केंद्रीय मंत्री भारतीयों की सुरक्षित निकासी के लिए यूक्रेन के पड़ोसी देशों में जा सकते हैं. केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी, ज्योतिरादित्य सिंधिया और किरेन रिजिजू और जनरल वीके सिंह निकासी मिशन के समन्वय और छात्रों की मदद करने के लिए यूक्रेन के पड़ोसी देशों की यात्रा करेंगे.

वहीं, अभी न्यूज़ एजेंसी ANI ने ट्वीट कर के जानकारी दी है कि ‘बुडापेस्ट (हंगरी) से छठी फ्लाइट ने ऑपरेशन गंगा के तहत उड़ान भरी है, जिसमें 240 भारतीय नागरिकों को दिल्ली वापस लाया जा रहा है.’

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe