समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और आजम खान ने लोकसभा से दिया इस्तीफा

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और आजम खान ने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. उनके इस्तीफे से राजनीतिक अटकलों पर विराम लग गया है. पहले यह अनुमान लगाया गया था कि दोनों नेता लोकसभा के सदस्य बने रहेंगे, इसलिए वे विधानसभा से इस्तीफा दे सकते हैं. वहीं यह फैसला लेने के बाद आजम खान और अखिलेश यादव की जोड़ी विधानसभा यूपी पॉलिटिक्स में मौजूद रहेगी.

बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव ने मैनपुरी की करहल सीट से जीत हासिल की है. उन्होंने चुनाव में भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री डॉ एसपी सिंह बघेल को हराया है. अखिलेश 2019 के लोकसभा चुनाव में आजमगढ़ से सांसद चुने गए थे. इसके अलावा, सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान भी रामपुर से लोकसभा के लिए चुने गए. उन्होंने विधानसभा चुनाव में 10वीं बार रामपुर सदर सीट से जीत हासिल की है.

सांसद आजम खान दो साल से सीतापुर जेल में बंद हैं. जेल में रहते हुए वे रामपुर सदर सीट से विधायक चुने गए. दूसरी ओर, जब समाजवादी पार्टी ने प्रोटेम स्पीकर के रूप में आजम खान के नाम की सिफारिश की थी, तो लोकसभा से उनके इस्तीफे पर बहस तेज हो गई थी.

विधानसभा चुनाव के परिणामों के बाद, यह अनुमान लगाया गया था कि अखिलेश यादव और आजम खान लोकसभा में बने रहेंगे, क्योंकि पार्टी के पास केवल पांच सदस्य हैं. अखिलेश और आजम खान के इस्तीफे के बाद लोकसभा में सपा के सिर्फ तीन सदस्य बचे रहेंगे. हालांकि इन दोनों नेताओं के इस्तीफे के बाद आजमगढ़ और रामपुर में उपचुनाव होंगे.

बताया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने होली के मौके पर करहल के लोगों से मुलाकात की थी. उसके बाद ही अखिलेश यादव ने करहल नहीं छोड़ने का इशारा दिया था. अखिलेश ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा था कि वह यूपी की राजनीति करते रहेंगे.

हालांकि लोकसभा से दोनों नेताओं के इस्तीफे के बाद नेता प्रतिपक्ष को लेकर असमंजस की स्थिति पैदा हो गई है. अब अगर अखिलेश यूपी विधानसभा में बैठते हैं तो जसवंत नगर से विधायक शिवपाल सिंह यादव नेता प्रतिपक्ष के तौर पर अपनी दावेदारी खो देंगे. वहीं, आजम खान के समर्थक भी उन्हें नेता प्रतिपक्ष बनाने की मांग कर रहे हैं.

spot_img
1,717FansLike
247FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe