अमेठी: आरआरएसआईएमटी में तीन दिवसीय वार्षिकोत्सव का हुआ शुभारंभ

उत्तर प्रदेश के अमेठी जनपद के मुंशीगंज स्थित राजर्षि रणञ्जय सिंह इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ऐंड टेक्नोलोजी (आरआरएसआईएमटी) में वृहस्पतिवार को तीन दिवसीय वार्षिकोत्सव का शुभारंभ हुआ. मुख्य अतिथि के रूप मे राजर्षि रणञ्जय सिंह ग्रुप आफ़ इन्स्टीट्यूशन्स (आरआरएसजीआई) के अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ0 संजय सिंह तथा विशिष्ट अतिथि के रूप मे आरआरएसजीआई की उपाध्यक्ष व पूर्व प्राविधिक शिक्षा मंत्री, उत्तर प्रदेश, डॉ0 अमीता सिंह के कर कमलों द्वारा तीन दिवसीय कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया.

आरआरएसआईएमटी का यह वार्षिकोत्सव 5 मई से शुरू होकर 7 मई को समाप्त होगा. इस दौरान आयोजित होने वाले टेकफेस्ट कार्यक्रम- ‘उत्कर्ष’ मे कोडिंग, वेबसाइट डिजाइनिंग, मॉडल मेकिंग, कैनन क्रास, वाद-विवाद, फोटोग्राफी, जंकयार्ड, क्विज, इलेक्ट्रोयार्ड बैटल, फेस पेंटिंग, मेहंदी, रंगोली, डेयर तो फीट और आनलाइन गेमिंग जैसी प्रतियोगिताएं होंगी.

इसी के साथ खेल प्रतियोगिता- ‘स्पोर्ट्स मूमेंटम’ में चेस, कैरम, खो-खो, वॉलीबॉल, बैडमिंटन और दौड़ जैसी खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा. साथ ही 7 मई की शाम मे रंगारंग कार्यक्रम ‘रिनाइसेंस’ के आयोजन के साथ यह तीन दिनों तक चलने वाले कार्याक्रम का समापन किया जाएगा.

आरआरएसजीआई के अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ0 संजय सिंह तथा आरआरएसजीआई की उपाध्यक्ष व पूर्व प्राविधिक शिक्षा मंत्री, उत्तर प्रदेश, डॉ0 अमीता सिंह ने छात्र-छात्राओं द्वारा तैयार किए गए रंगोली, मेहंदी, आकार कार्यक्रम तथा बैडमिंटन खेल का निरीक्षण करके छात्रों से बात किया और उनके कौशल तथा उत्साह की सराहना किया.

संस्थान की निदेशक डॉ0 चंदा रानी ने संस्थान मे आयोजित तीन दिवसीय वार्षिकोत्सव के बारे मे जानकारी देते हुए सभी अतिथियों का स्वागत किया.

इस अवसर पर संस्थान की उपाध्यक्ष व पूर्व प्राविधिक शिक्षा मंत्री, उत्तर प्रदेश, डॉ0 अमीता सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए इस प्रकार के कार्यक्रम का आयोजन आवश्यक होता है. वार्षिकोत्सव में आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से छात्रों का 360 डिग्री विकास करने मे मदद मिलती है. आज ग्रामीण क्षेत्र के बच्चे अमेठी से ही इंजीनियरिंग की पढ़ाई करके देश-विदेश मे सेवा दे रहे हैं यह हमारे लिए अपार हर्ष और गौरव का विषय है.

आरआरएसजीआई के अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ0 संजय सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि राजर्षि रणञ्जय सिंह जी के विचार और प्रेरणा से ही आज अमेठी में शिक्षा का हब बन सका है. महाराज राजर्षि रणञ्जय सिंह जी ने काशी विश्वविद्यालय जब बना तभी से यह विचार लेकर आए कि अमेठी को शिक्षा के क्षेत्र में लहुरी काशी बनाया जाए. आज हम और रानी साहिबा उसी सपने को पूरा करने के लिए लगातार संकल्पवद्ध होकर प्रयास कर रहे हैं. डॉ0 संजय सिंह और डॉ0 अमीता सिंह ने तीन दिवसीय कार्यक्रम में प्रतिभाग कर रहे सभी छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं दिया.

इस अवसर पर आरआरएसजीआई के मुख्य समन्वयक डॉ0 त्रिवेणी सिंह, संयुक्त निदेशक शशांक श्रीवास्तव और निशांत श्रीवास्तव सहित सभी शिक्षक और बड़ी संख्या मे छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे.

spot_img
1,717FansLike
247FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe