ओवैसी पर हुए हमले पर बोले अमित शाह- पहले से तय नहीं था कार्यक्रम, बुलेट प्रूफ गाड़ी और जेड श्रेणी की सुरक्षा स्वीकार करें

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी की गाड़ी पर फायरिंग के मामले में गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में बयान दिया. राज्य सभा में अमित शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश के हापुड़ जनपद में ओवैसी का कार्यक्रम पहले से तय नहीं था. उन्होंने ओवैसी से केंद्र की ओर से दी गई जेड कैटेगरी सिक्योरिटी स्वीकार करने की अपील भी की.

गृह मंत्री ने कहा कि ओवैसी की ओर से जो मौखिक सूचनाएं भेजी गई हैं, इसके मुताबिक ओवैसी ने सुरक्षा लेने से इनकार किया है. शाह ने अपील की ‘मैं सदन के माध्यम से श्री ओवैसी को विनती करना चाहूंगा कि वे तत्काल सुरक्षा ले लें और हम सबकी चिंता का समाधान करें.’

शाह ने कहा, तीन फरवरी को शाम 5.20 बजे लोक सभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी यूपी के मेरठ जिला अंतर्गत किठौर में जनसंपर्क कार्यक्रम के बाद दिल्ली लौट रहे थे. उनका काफिला नेशनल हाईवे संख्या 9 पर छिजारसी टोल प्लाजा के पास से गुजर रहा था, तो दो अज्ञात लोगों ने उनकी गाड़ी पर गोली चलाई. शाह ने बताया कि ओवैसी की गाड़ी पर गोली चलने की घटना जिस स्थान पर हुई यह इलाका हापुड़ जनपद के पिलखुआ थानाक्षेत्र में आता है.

अमित शाह ने कहा कि ओवैसी के वाहन के निचले हिस्से में तीन गोलियों के निशान दिखाए गए. घटना को तीन गवाहों ने खुद देखने की बात कही है. उन्होंने कहा कि इस मामले में यूपी पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है. उन्होंने बताया कि यूपी पुलिस ओवैसी की गाड़ी पर गोली चलने के मामले की जांच कर रही है.

पहले से तय कार्यक्रम नहीं
ओवैसी के दौरे के संबंध में शाह ने कहा कि हापुड़ में ओवैसी का कार्यक्रम पहले से तय नहीं था. उन्होंने कहा कि आवागमन के बारे में भी ओवैसी की ओर से जिला नियंत्रण कक्ष को कोई जानकारी नहीं दी गई थी. शाह ने कहा, गोली चलने के बाद ओवैसी सुरक्षित दिल्ली पहुंच गए. उन्होंने कहा कि स्थानीय पुलिस ने तत्परता के कार्रवाई की और दो लोगों को गिरफ्तार कर, दो अवैध पिस्टल और ऑल्टो कार जब्त की है.

शाह ने कहा कि फॉरेंसिक टीम घटनास्थल और वाहन की जांच कर रही है. साक्ष्य जमा किए जा रहे हैं. दोनों अभियुक्तों से यूपी पुलिस पूछताछ कर रही है. उन्होंने कहा कि हापुड़ में कानून व्यवस्था की स्थिति नियंत्रण में है. सतर्कता बरती जा रही है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगी है.

ओवैसी को जेड श्रेणी सिक्योरिटी

उन्होंने कहा, पहले भी कई मौकों पर केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के खतरे के आकलन के आधार पर ओवैसी को सुरक्षा देने के लिए केंद्र सरकार निर्देश जारी कर चुकी है. शाह ने कहा कि ओवैसी ने सुरक्षा लेने के प्रति अनिच्छा जाहिर की, जिस कारण दिल्ली पुलिस और तेलंगाना पुलिस द्वारा उन्हें सुरक्षा देने के प्रयास सफल नहीं रहे. शाह ने कहा ओवैसी पर खतरे का दोबारा मूल्यांकन कराया गया है. उन्होंने कहा कि आकलन के आधार पर ओवैसी को जेड कैटेगरी की सुरक्षा देने का फैसला लिया गया है. इसके तहत ओवैसी को दिल्ली में बुलेट प्रूफ कार दी जाएगी. इसके अलावा अखिल भारतीय स्तर पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की जेड श्रेणी सुरक्षा प्रदान की गई है.

संसद में ओवैसी का बयान

गौरतलब है कि गाड़ी पर फायरिंग मामले में एआईएमआईएम सांसद ओवैसी ने लोक सभा में यूपी के मेरठ में उनकी गाड़ी पर हुई फायरिंग का मुद्दा उठाया था. उन्होंने कहा कि वे जेड कैटेगरी की सुरक्षा नहीं चाहते. ओवैसी के बयान के समय लोक सभा में मौजूद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया था कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, संसद में सोमवार को इस संबंध में बयान देंगे.

बता दें कि गत तीन फरवरी को ओवैसी यूपी में चुनावी कार्यक्रम के बाद दिल्ली लौट रहे थे. इसी दौरान AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की गाड़ी पर मेरठ में तीन-चार राउंड फायरिंग हुई थी. यूपी के किठौर में छिजारसी टोल प्लाजा के पास दो लोगों ने उनकी गाड़ी पर गोलियां चलाईं थी. इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है.

घटना के बाद केंद्र सरकार ने चार फरवरी को AIMIM प्रमुख एवं हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी को केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के कमांडो द्वारा ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा तत्काल प्रभाव से प्रदान की गई है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ओवैसी की सुरक्षा के लिए 24 घंटे CRPF कमांडो तैनात रहेंगे.

(इनपुट) ईटीवी भारत
spot_img
1,717FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe