Assembly Elections 2022: यूपी, उत्तराखंड और गोवा में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान जारी

आज देश की तीन राज्यों उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और गोवा में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान जारी हैं. उत्तर प्रदेश में अभी तक 23.03 फीसद मतदान हो चुके हैं. उत्तराखंड की 70 सीटों के लिए अब तक 18.97 फीसद मतदान हो चुके हैं और गोवा में अब तक 26 फीसद वोटिंग हुए हैं.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण में नौ जिलों की 55 सीटों के लिए मतदान जारी है. सहारनपुर, बिजनौर, अमरोहा, संभल, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, बदाऊं, शाहजहांपुर के बूथों पर वोटरों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है. दूसरे चरण में मुरादाबाद रूलर, मुरादाबाद नगर, कुन्दरकी, बिलारी, चंदौसी, असमोली, संभल, सुआर, चमरुआ, बिलासपुर, रामपुर, मिलक, धनेरा, नौगाव सादत, बेहट समेत 55 सीटों के लिए वोट डाले जा रहे हैं.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के तहत सोमवार को दूसरे चरण में 55 सीटों पर होने वाले मतदान के लिए 6,860 निरीक्षकों और उपनिरीक्षकों सहित करीब 60 हजार पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है, जबकि केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की 800 कंपनियां भी शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित कराने में सहयोग करेगी. यह जानकारी अधिकारियों ने दी.

उन्होंने बताया कि मतदाता सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे. ये सीटें नौ जिलों- अमरोहा, बदायूं, बरेली, बिजनौर, मुरादाबाद, रामपुर, सहारनपुर, संभल और शाहजहांपुर की हैं. उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक बयान में बताया, ‘आठ निर्वाचन क्षेत्रों नगीना, धामपुर, बिजनौर, असमोली, संभल, देवबंद, रामपुर मनिहारण और गंगोह को ‘संवेदनशील’ की श्रेणी में रखा गया है.

दूसरे चरण में होने वाले 55 सीटों में से भाजपा ने 2017 में 38 सीटें जीती थीं जबकि सपा को 15 और कांग्रेस को दो सीटें मिली थीं. सपा और कांग्रेस ने पिछला विधानसभा चुनाव गठबंधन में लड़ा था. सपा की जीती हुई 15 सीटों में 10 सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवार विजयी हुए थे. इस चरण में चुनाव मैदान में उतरे प्रमुख चेहरों में उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री रहे धर्म सिंह सैनी शामिल हैं, जो भाजपा छोड़कर सपा में चले गए थे.

सांसद आजम खान को उनके गढ़ रामपुर सीट से मैदान में उतारा गया है जबकि सैनी नकुड़ विधानसभा क्षेत्र से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. खान के बेटे अब्दुल्ला आजम को स्वार सीट से मैदान में उतारा गया है.

बयान के मुताबिक, ‘दूसरे चरण के मतदान के लिए 436 माजरा या बस्ती को अतिसंवेदनशील, जबकि 4,917 मतदान केंद्र को संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है.’

दूसरे चरण के मतदान के लिए निर्वाचन आयोग ने कुल 12,538 मतदान केंद्र बनाए हैं. राज्य पुलिस ने बताया कि उसे केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल की 794.1 कंपनियां मिली हैं जिनमें से 733 को चुनाव ड्यूटी में लगाया गया है, जबकि तीन कंपनियां ईवीएम की सुरक्षा में और 10 की तैनाती स्ट्रॉंग रूम की सुरक्षा में की गई है.

बयान के मुताबिक अर्धसैनिक बलों की 50 अन्य कंपनियों को कानून व्यवस्था की ड्यूटी में लगाया गया है जिनमें से 19 कंपनियां त्वरित प्रतिक्रिया टीम के तौर पर पुलिस थानों में काम करेंगी, जबकि 12 कंपनियों को राज्य में प्रवेश करने के 73 मार्गों पर बनाई गई जांच चौकी पर की गई है. नौ कंपनियों की तैनाती उड़न दस्ते में और इतनी ही कंपनियों को इस कार्य के लिए आरक्षित रखा गया है. उल्लेखनीय है कि केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल की एक कंपनी में करीब 70 से 80 जवान होते हैं.

बयान के मुताबिक, ‘दूसरे चरण के मतदान के दौरान 6,860 निरीक्षकों व उपनिरीक्षकों, 54,670 हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल, पीएसी की 18 कंपनियां, होमगार्ड के 43,397 जवानों की तैनाती की जाएगी.’ बयान के मुताबिक निर्वाचन आयोग के निर्देश पर कुल 122 पिंक बूथ बनाए गए हैं ताकि महिलाओं को मतदान के लिए प्रेरित किया जा सके.

वहीं दूसरी तरफ आज उत्तराखंड की सभी 70 विधानसभा सीटों के लिए मतदान आज जारी है. प्रदेश में वोटिंग प्रक्रिया जारी है. इसी कड़ी में कुमाऊं के हल्द्वानी में भी विधानसभा चुनाव की वोटिंग प्रक्रिया जारी है. इस दौरान लोगों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है.

वहीं, इस बार कई नए वोटर्स भी वोट देने पहुंचे हैं. न्यू वोटर्स में भी काफी उत्साह देखा जा रहा है.उत्तराखंड में इस बार चार लाख नये वोटर हैं. नये वोटरों में उत्साह देखते ही बन रहा है. उत्तराखंड में 632 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं. 82 लाख से ज्यादा मतदाता उनके राजनीतिक भविष्य को तय कर रहे हैं. सुबह 8 बजे से शुरू हुई मतदान प्रक्रिया शाम 6 बजे तक जारी रहेगी. उत्तराखंड में मतगणना 10 मार्च को होगी.

बता दें कि, उत्तराखंड की हॉट सीट लालकुआं से कांग्रेस के प्रत्याशी हरीश रावत मैदान में हैं. वहीं हल्द्वानी से कांग्रेस की दिग्गज नेता स्वर्गीय इंदिरा हृदयेश के पुत्र सुमित हृदयेश चुनाव मैदान में हैं. हल्द्वानी में बड़ी संख्या में नये वोटर इस बार पहली बार वोटिंग कर रहे हैं. उनका कहना है कि जो अच्छा प्रत्याशी काम करेगा या विकास करेगा उसी को वोट करेंगे.

गोवा में विधानसभा की 40 सीटों के लिए मतदान जारी है. इन सीटों के लिए 301 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. परंपरागत रूप से द्विध्रुवीय राजनीति वाले राज्य, गोवा में इस बार बहुकोणीय मुकाबला देखने को मिल रहा है, जहां आम आदमी पार्टी (आप), तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और अन्य छोटे दल राज्य के चुनावी परिदृश्य पर अपनी छाप छोड़ने की होड़ में हैं.

एक निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 के प्रसार की रोकथाम के लिए मतदाताओं को मतदान केंद्रों पर दस्ताने उपलब्ध कराए जाएंगे. उन्होंने कहा कि महिला मतदाताओं की सुविधा के लिए राज्य में 100 से अधिक महिला मतदान केंद्र बनाए गए हैं. गोवा में प्रमुख उम्मीदवारों में मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत (भाजपा), विपक्ष के नेता दिगंबर कामत (कांग्रेस), पूर्व मुख्यमंत्री चर्चिल अलेमाओ (टीएमसी), रवि नाइक (भाजपा), लक्ष्मीकांत पारसेकर (निर्दलीय), पूर्व उप मुख्यमंत्री विजय सरदेसाई (जीएफपी) सुदीन धवलीकर (एमजीपी), पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पर्रिकर और आप का मुख्यमंत्री चेहरा अमित पालेकर शामिल हैं.

शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने चुनाव पूर्व गठबंधन की घोषणा की थी, जबकि अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप) अपने दम पर चुनाव लड़ रही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से उत्तराखंड, गोवा और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में विधानसभा चुनाव के लिए सोमवार को रिकॉर्ड संख्या में मतदान करने का अनुरोध किया. गोवा और उत्तराखंड की सभी विधानसभा सीटों और उत्तर प्रदेश के 55 निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव के लिए सोमवार को मतदान हो रहा है। उत्तर प्रदेश में यह दूसरे चरण का मतदान है. प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर लोगों से रिकॉर्ड संख्या में वोट देने और लोकतंत्र के उत्सव को सुदृढ़ बनाने का आग्रह किया.

बता दें कि पांच राज्यों में मतगणना 10 मार्च को होगी.

spot_img
1,717FansLike
247FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe