Budget 2022-2023 : राज्य सभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा जारी

संसद के बजट सत्र (parliament budget session) का आज तीसरा दिन है. राज्य सभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा जारी है. राज्य सभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने लोकतंत्र को लेकर सरकार के समर्थन में किए दावों पर कहा कि अगर गत 70 वर्षों में कुछ नहीं किया गया होता तो भारत आज जिस स्थिति में है, ऐसा नहीं होता.

ईटीवी भारत की ख़बर के अनुसार, राज्य सभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा (motion of thanks on address of president kovind) की गई. राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव गीता उर्फ चंद्रप्रभा (rajya sabha geeta alias chandraprabha) ने पेश किया. उन्होंने चर्चा की शुरुआत करते हुए सरकार की कई उपलब्धियां गिनाईं.

उत्तर प्रदेश से राज्य सभा के लिए निर्वाचित हुईं चंद्रप्रभा ने सरकार को महिला अपराध के प्रति संवेदनशील करार दिया. उन्होंने कहा कि सुदृढ़ कानून व्यवस्था के कारण देश और उत्तर प्रदेश में बहन-बेटियां सुरक्षित हैं. उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए यूपी सरकार कटिबद्ध है. थानों में महिला हेल्प डेस्क बनाए गए हैं.

चंद्रप्रभा के बाद पंजाब से निर्वाचित भाजपा सांसद श्वेत मलिक (rajya sabha shwait malik bjp) ने अपने विचार रखे. उन्होंने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू और पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारों की गलतियों का जिक्र करते हुए कहा कि पीएम मोदी की अगुवाई में देश विकास के नए आयाम स्थापित कर रहा है. उन्होंने कहा कि देश को आज़ादी 2014 में ही मिली है.

राज्य सभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में भाग लिया. उन्होंने अपने वक्तव्य की शुरुआत में कहा कि राष्ट्रपति के अभिभाषण पर भाजपा सांसदों के वक्तव्य में चुनावी भाषण की झलक दिखी. उन्होंने एक शेर भी उद्धृत किया. खड़गे ने कहा, ‘लश्कर भी तुम्हारा है, सरदार तुम्हारा है; तुम झूठ को सच लिख दो, अखबार तुम्हारा है.’

गौरतलब है कि गत 31 जनवरी को संसद के बजट सत्र (parliament budget session) की शुरुआत के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित किया था. उन्होंने आर्थिक और सामाजिक क्षेत्र सरकार की ओर से हासिल की गईं उपलब्धियां बताईं. उनके अभिभाषण में उन्होंने कोरोना काल में हो रहे वैक्सीनेशन, प्रधानमंत्री अन्न कल्याण गरीब योजना, प्रधानमंत्री कृषि योजना समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा की.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि देश आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है. भारत सबसे अधिक वैक्सीन देने वालों देश में शामिल हो गया है. हर घर दस्तक अभियान से वैक्सीनेशन अभियान में तेजी आई है. कोरोना वैक्सीन से देश को कोरोना कवच मिला. उन्होंने कहा कि तात्कालिक चुनौतियों के लिए सीमित नहीं है, दूरगामी उद्देश्य को पूरा करने के लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं. देश में स्वास्थ्य सेवाएं जनसाधारण तक पहुंच रही हैं.

spot_img
1,717FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe