बिजनेस समिट: दिल्ली में व्यापार को बढ़ावा देने और कारोबारियों के मार्गदर्शन के लिए रिफाह चैंबर प्रतिबद्ध

नई दिल्ली (2 अक्टूबर 2023( के इंडिया इस्लामिक कल्चर सेंटर में रिफाह चैंबर ऑफ कॉमर्स, दिल्ली की ओर से एक बिजनेस शिखर सम्मेलन का आयोजन किया गया. व्यवसाय विकास में बेहतर पहल, कारोबारियों का सशक्तिकरण और व्यवसायिक समुदाय इससे कैसे लाभान्वित हो सकता है? इस सम्मलेन के उद्देश्य थे. मीटिंग में विभिन्न क्षेत्रों के व्यापारियों समेत 125 से अधिक लोगों ने भाग लिया. इस मीटिंग में व्यापारियों से अपने व्यापार को लाभदायक कैसे बनाया जाए और अपने व्यापार को देश-विदेश तक कैसे बढ़ाया जाए जैसे विषयों पर चर्चा की गई.

रिफाह चैंबर के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष सुल्तान सलाहुद्दीन ने कहा कि जमात-ए-इस्लामी हिंद ने उद्योगपतियों और कारोबारियों के मार्गदर्शन के लिए इसकी स्थापना की है. उन्होंने बताया कि रिफाह चैंबर ने लगभग 20 राज्यों का दौरा किया है. रिफाह चैंबर ने पाया कि व्यवसायियों के बीच इस बात को लेकर बहुत संघर्ष है कि वें अपने व्यवसाय को शीर्ष पर कैसे पहुंचाएं? और इसलिए कारोबारियों का मार्गदर्शन करना आवश्यक हो जाता है.

रिफाह चैंबर ऑफ कॉमर्स के निदेशक तौफीक असलम खान ने दिल्ली में रिफाह चैंबर के विजन और मिशन पर चर्चा करते हुए कहा कि स्टार्टअप शुरू करने के लिए पूंजी की बजाय अनुभव और मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है. यदि कारोबारी सफलता चाहते हैं तो उन्हें अपने व्यवसाय को ब्याज से मुक्त रखना चाहिए और व्यापार के विकास के लिए इस क्षेत्र में ज्ञान प्राप्त करना चाहिए. हमारी कोशिश ड्राइवर को मालिक बनाने की है. व्यवसाय के विकास में महिलाओं को भी अहम भूमिका निभानी होगी.

इस बिजनेस मीटिंग में शामिल प्रतिभागियों ने एक-दूसरे को अपना परिचय भी कराया और एक-दूसरे के उद्योग से परिचित भी हुए.

रिफाह चैंबर ऑफ कॉमर्स के सचिव मिर्जा अफजल बेग ने मार्गदर्शन करते हुए उन मुद्दों को विशेष रूप से स्पष्ट किया जो व्यवसाय के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. उन्होंने व्यापारियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि समाज हमेशा उन लोगों को पसंद करता है जो समाज की भलाई के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं, जो उनके लिए रोजगार के अवसर प्रदान करते हैं, इसलिए कारोबारियों को इस पक्ष पर भी विचार करना होगा, और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने होंगे.

उन्होंने आगे कहा कि जो लोग अपने व्यवसाय से संतुष्ट हैं, वे खुद को इसी दायरे में सीमित कर रहे हैं, उन्हें इस दायरे से बाहर आना चाहिए. व्यवसाय को अधिक स्थिर और विकसित करना मुसलमानों को पहला लक्ष्य होना चाहिए. उद्योगपतियों को एक-दूसरे का समर्थन करना चाहिए ताकि कमजोर उद्योगपतियों को विकास के हर कदम पर समर्थन मिले. अगर हम सब मानवता की समस्या का समाधान कर लें तो हमारी अपनी समस्या स्वतः ही हल हो जाएगी. एक बिजनेसमैन को नेटवर्क की जरूरत होती है, इसलिए रिफाह चैंबर नेटवर्किंग में अहम भूमिका निभा रहा है और दिल्ली में भी उद्योगपतियों के लिए यही काम करेगा.

कार्यक्रम के अंत में जमात-ए-इस्लामी हिंद दिल्ली के अध्यक्ष सलीमुल्लाह खान ने मीटिंग में शामिल सभी लोगों को धन्यवाद दिया और कहा कि रिफाह चैंबर दिल्ली में व्यापारिक समुदाय के लिए उनके व्यापार के विकास में एक मील का पत्थर साबित होगा, इंशाअल्लाह.

रिफाह चैंबर के इस कार्यक्रम से दिल्ली में विभिन्न क्षेत्रों के व्यापारियों को आपसी संबंध बनाने और एक-दूसरे के व्यापार और उनके व्यवसाय की प्रकृति को करीब से देखने और समझने का अवसर मिला. कारोबारी नेटवर्किंग के माध्यम से संभावित ग्राहकों से जुड़ सकेंगे. रिफाह चैंबर दिल्ली में व्यापार को बढ़ावा देने और कारोबारियों को समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध है.

अपनी स्थापना के दिन से रिफाह का उद्देश्यपूर्ण नेटवर्किंग के लिए एक गतिशील पारिस्थितिकी तंत्र प्रदान करना है, जो समान विचारधारा वाले पेशेवरों, व्यापारियों के लीडर्स और संभावित साथियों के साथ कनेक्शन को सक्षम बनाता है, एक दूसरे के साथ विचार, सहयोग और अवसर साझा करता है. हमारी सभी बैठकें इसी तरह डिज़ाइन की गई हैं.

खरीदारों और विक्रेताओं के बीच विशेष बैठकों का आयोजन करना हमारे मुख्य कामों में से एक है. रिफाह चैंबर सरकारी योजनाओं को कारोबारियों के सामने पेश करने की कोशिश करता है. सरकार की योजनाओं से कारोबार को कैसे लाभ मिल सकता है? इस बात की कोशिश करना रिफाह चैंबर के प्रमुख उद्देश्य में शामिल है.

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe