दारुल उलूम देवबंदः मदरसा सर्वे को लेकर अब बैठक 18 सितंबर को होगी

देवबंद: उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गैर मान्यता प्राप्त मदरसों के सर्वेक्षण से उत्पन्न स्थिति पर चर्चा के लिए 24 सितंबर को चयनित मदरसों की बैठक होनी थी. लेकिन अब यह 18 सितंबर को होगी और सर्वेक्षण को लेकर दारुल उलूम की स्थिति की घोषणा बैठक में ही की जाएगी.

गौरतलब है कि दारुल उलूम देवबंद ने उत्तर प्रदेश में गैर मान्यता प्राप्त मदरसों के सर्वेक्षण की आधिकारिक घोषणा को बेहद दुखद बताया है. दरअसल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गैर मान्यता प्राप्त मदरसों के सर्वे के आदेश दिए हैं.

आवाज़ द वॉयस की खबर के मुताबिक, सरकार के इस फैसले पर पहली बार दारुल उलूम देवबंद ने प्रतिक्रिया दी है. मुख्यमंत्री योगी के इस फैसले को न सिर्फ दारुल उलूम देवबंद ने खेदजनक करार दिया है, बल्कि इस संबंध में 24 सितंबर को मदरसा पदाधिकारियों की बैठक बुलाने का फैसला किया है.

दारुल उलूम देवबंद के मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी ने कहा था कि सरकार की घोषणा को देखते हुए 24 सितंबर को देवबंद में एक बड़ी बैठक बुलाने का फैसला किया गया था, जिसकी तारीख अब बदल दी गई है. इसमें राज्य भर के 250 से अधिक मदरसों के अधिकारी शामिल होंगे. दारुल उलूम के मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नौमानी ने एक बयान में कहा था कि मदरसा सर्वे के बारे में जो सुना जा रहा है, वह बेहद दुखद है. अब यह बैठक 18 सितंबर को होगी.

एक्शन प्लान पर होगी चर्चा

इस संबंध में कल संस्था के भीतर शिक्षा समिति (शिक्षा समिति) की बैठक हुई, जिसमें यह निर्णय लिया गया है कि उत्तर प्रदेश में गैर मान्यता प्राप्त मदरसों के सर्वेक्षण की आधिकारिक घोषणा को दारुल उलूम देवबंद ने बेहद दुखद बताया है. सरकार के इस फैसले पर पहली बार दारुल उलूम देवबंद ने प्रतिक्रिया दी है. इतना ही नहीं दारुल उलूम देवबंद ने इस फैसले को खेदजनक करार दिया.

spot_img
1,716FansLike
249FollowersFollow
118FollowersFollow
14,300SubscribersSubscribe