निराश्रित गोवंशों के संरक्षण को लेकर जिलाधिकारी ने की बैठक

अमेठी/उत्तर प्रदेश: जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने आज कलेक्ट्रेट सभागार में निराश्रित गोवंशों के संरक्षण को लेकर गौशालाओं में चारा, भूसा, स्वच्छ पेयजल तथा टीन शेड इत्यादि मूलभूत सुविधाओं को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक किया एवं आवश्यक निर्देश दिए.

बैठक में जिलाधिकारी ने जनपद में संचालित सभी गौशालाओं पर मूलभूत सुविधाओं की जानकारी ली.

उन्होंने कहा कि सभी गौशालाओं में कम से कम 300 क्विंटल भूसे की उपलब्धता सुनिश्चित हो तथा गौशालाओं में मौजूद गोवंशों के अनुसार वर्ष भर में खर्च होने वाले भूसे का आगणन कर उसी के अनुसार भूसे की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सभी गौशालाओं पर ताजा स्वच्छ पानी उपलब्ध रहे.

उन्होंने कहा कि जहां पर समरसेबल की व्यवस्था नहीं है वहां समरसेबल लगाया जाना सुनिश्चित करें तथा पशुओं के अनुसार चरही का निर्माण कराया जाए. जहां पर पशुओं के बैठने हेतु पर्याप्त मात्रा में टीन शेड की व्यवस्था नहीं है वहां पर पर्याप्त टीन शेड का निर्माण कराया जाए.

उन्होंने एक सप्ताह के अंदर सभी गौशालाओं पर स्वच्छ पेयजल, टीनशेड तथा अन्य मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि निराश्रित गोवंशों के संरक्षण को लेकर माननीय मुख्यमंत्री जी एवं शासन स्तर से लगातार समीक्षा की जा रही है.

अतः इस कार्य में किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी तथा लापरवाही करने वाले अधिकारी, कर्मचारी के विरुद्ध कठोर कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी.

जिलाधिकारी द्वारा पूर्व में बैठक कर जनपद में संचालित समस्त गौशालाओं पर नोडल अधिकारियों की नियुक्ति कर गौशालाओं में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी लेने के निर्देश दिए गए थे, जिसके क्रम में आज बैठक के दौरान विकासखंड मुसाफिरखाना की ग्राम पंचायत नारा अढ़नपुर तथा विकासखंड संग्रामपुर की ग्राम पंचायत भोसिंहपुर व बनवीरपुर में बने गौशालाओं में मूलभूत सुविधाओं की कमी पाए जाने पर जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारी मुसाफिरखाना तथा संग्रामपुर को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए.

बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी डा. अंकुर लाठर, अपर जिलाधिकारी न्यायिक आरके द्विवेदी, जिला विकास अधिकारी तेजभान सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सीमा मेहरा, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ जेपी सिंह, उप कृषि निदेशक सत्येंद्र चौहान, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला कृषि अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे.

spot_img
1,717FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe