बिहार के भागलपुर में जोरदार धमाका, एक बच्चा समेत 8 लोगों की मौत और दर्जनों घायल

बिहार के जिला भागलपुर में जोरदार धमाका हुआ है. इस धमाके में अभी तक 8 लोगों के मारे जाने और दर्जनों लोगों के घायल होने की खबर है. तातारपुर थाना क्षेत्र के काजवलीचक (Kajvalichak of Tatarpur police station area) में धमाका हुआ. धमाका इतना जबरदस्त था कि इसकी गूंज काफी दूर तक सुनाई पड़ी. एक घर के अंदर हुए भीषण विस्फोट से पूरे शहर में हड़कंप मच गया. पुलिस की टीम आनन-फानन में मौके पर पहुंची. जिले के डीएम, एसएसपी और डीआईजी भी घटनास्थल पर पहुंचे. फिलहाल 8 लोगों के शव बरामद होने की सूचना है. मृतकों में एक बच्चा भी शामिल है.

लगा जैसे भूकंप आया हो : गुरुवार आधी रात को जब अधिकांश लोग नींद में थे तथा कुछ लोग सोने की तैयारी में थे, अचानक भागलपुर के शहरी इलाके में भीषण विस्फोट हुआ. इसकी आवाज इतनी तेज थी कि लोग डर गये. लोगों को कुछ समझ में नहीं आया कि हुआ क्या है. लोग अलग-अलग बातें करने लगे. कई तरह आशंका व्यक्त कर रहे थे. कुछ लोगों काे लगा कि भूकंप आया है. कई लोग सोशल मीडिया पर भूकंप का जिक्र तक कर बैठे. कुछ लोगों ने लिखा था कि आसमान में धुंआ फैला हुआ है. हालांकि थोड़ी देर बाद ही हकीकत सबके सामने आ गयी.

काफी दूर तक बिखर गया मलबा : यह धमाका जिस बिल्डिंग में हुआ था, वह पूरी तरह से ध्वस्त होकर जमींदोज हो गयी. आस-पास के तीन मकानों की दीवारें भी टूट गयीं. आस-पास के भी कई लोग जख्मी हुए हैं. इस धमाके की आवाज कई किलोमीटर तक सुनाई पड़ी. ध्वस्त मकान का मलबा घटनास्थल से करीब काफी दूर बिखर गया था. काफी डरावना नजारा था.

मलबा हटाने में जुटा प्रशासन : इस धमाके की खबर मिलते ही भारी पुलिस बल साथ कई आला अधिकारी मौके पर पहुंचे. एसएसपी बाबू राम भी मौके पर पहुंचे. जेसीबी की मदद से मलवे को हटाने का फौरन शुरू किया गया. मलबे के अंदर दबे शवों को बाहर किया जाने लगा. हालांकि औपचारिक तौर पर यह पुष्टि नहीं हो सकी है कि कुल कितने लोग इस विस्फोट में हताहत हुए हैं. मौके पर पहुंचे भागलपुर के डीएम सुब्रत सेन इस मामले पर फिलहाल खुलकर कुछ भी कहने से बचते दिखे. उन्होंने 2 मौतों की पुष्टि व 7 जख्मी की पुष्टि की. उन्होंने कहा कि यह संख्या अभी बढ़ेगी. रेस्क्यू अभियान जारी है. हालांकि अनौपचारिक तौर पर 8 लोगों की मौत होने की सूचना है.

बताया जाता है कि मलबे के अंदर कई लोग दबे मिले. उन्हें निकालकर आनन-फानन में अस्पताल भेजा गया. इनमें कई जीवित थे. प्रशासन की ओर से धमाके की वजह अभी तक नहीं बतायी गयी है. अस्पताल में एक घायल ने बताया कि उसके पड़ोस के घर में बम बनाने का काम होता था. उसी घर में धमाका हुआ. इसकी जद में कई अन्य घर भी आ गये और आस-पास के लोगों को भी क्षति पहुंची है. डीएम का कहना है कि जिस बिल्डिंग में धमाका हुआ, वहां आतिशबाजी का सामान बनता था. पहले भी यहां ऐसी घटना हुई थी पर वो हल्की थी. डीएम ने कहा कि ये जांच का विषय है कि धमाके की असली वजह क्या थी. वहीं कुछ लोगों का कहना है कि आतिशबाजी का सामान बनाने की आड़ में बम बनाया जाता था.

वहीं, ज़िलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने बताया, ‘इस घटना से 2-3 घरों को नुकसान हुआ है. प्रथम दृष्टया पता चला है कि पूरा परिवार पटाखे बनाने का काम करता था, जांच जारी है.’

(ईटीवी भारत से इनपुट के साथ)

spot_img
1,717FansLike
247FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe