दक्षिण अफ्रीका में श्रृंखला का आखिरी मैच और सीरीज जीतने उतरेगा भारत, नजरें कोहली पर

दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच सीरीज का आखिरी और निर्णायक मुकाबला 11 जनवरी को केपटाउन के न्यूलैंड्स में मंगलवार से खेला जाएगा. फिलहाल, दोनों टीमें सीरीज 1-1 से बराबरी पर है. यहां की पिच तेज गेंदबाजों के लिए मददगार साबित होगी. पहली पारी में केएल राहुल (123) और मयंक अग्रवाल (60) के 117 रनों की साझेदारी की बदौलत भारत ने सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट पार्क में मेजबान टीम को 113 रनों से हराकर दक्षिण अफ्रीका के अपने दौरे की शानदार शुरुआत की थी.

हालांकि, भारत जोहानिसबर्ग में अपनी बड़ी रनों की योजना को दोहराने में विफल रहा और मेजबान टीम को 240 रनों का बड़ा लक्ष्य देने के बाद भी मैच हार गया. इस मैच के हीरो कप्तान डीन एल्गर ने 96 नाबाद रन बनाकर टीम को सीरीज में 1-1 से बराबर करने में मदद की थी. सेंचुरियन किले को तोड़ने और वांडर्स में अपने गढ़ को बनाए रखने में विफल रहने के बाद, भारत को अफ्रीकी जमीन पर पहली बार सीरीज जीतने के लिए केपटाउन को जीतना आसान नहीं होगा. लेकिन, पिछले एक साल में अगर भारतीय टीम से कुछ अच्छा देखने को मिला है तो वह है बेहतरीन वापसी करना.

ईटीवी भारत की ख़बर के अनुसार, साल 2021 की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी सीरीज में भारत ने मेलबर्न में जीतने के लिए एडिलेड में 36 रनों पर ऑलआउट होने के बाद शानदार वापसी की थी. इसके बाद, सिडनी में ड्रॉ किया और फिर सीरीज लेने के लिए ब्रिस्बेन में एक प्रसिद्ध जीत दर्ज की. वहीं, इंग्लैंड के खिलाफ घर में भारत चेन्नई में पहला मैच हार गया, लेकिन अगले तीन मैच जीतने के लिए बेहतरीन खेल दिखाया. फिर इंग्लैंड में भारत ने जीत के लिए लीड्स में मिली करारी हार से वापसी की थी.

यहां भी सभी को भारतीय टीम से वापसी करने का इंतजार हैं. वहीं, टीम को विराट कोहली की प्लेइंग इलेवन में वापसी से भी प्रोत्साहन मिलेगा. चोट के कारण कोहली दूसरे टेस्ट से चूक गए थे. उनकी अनुपस्थिति में, भारत ने हनुमा विहारी को मौका दिया था.

ईटीवी भारत की ख़बर के अनुसार, एक ऐसा मैच, जहां खेलने के लिए सब कुछ है. कोहली ने भी नवंबर 2019 से शतक नहीं लगाया है, जो इस मैच में अपने सूखे को खत्म करना चाहेंगे. कोहली की अपेक्षित वापसी के अलावा, भारत को अच्छी शुरुआत करनी होगी. साथ ही साथ बड़ी-बड़ी साझेदारियां करनी पड़ेगी.

जोहानिसबर्ग में कप्तान केएल राहुल पहली पारी में अर्धशतक तक पहुंचे, लेकिन इसे बड़े स्कोर में नहीं बदल सके. जैसा कि उन्होंने सेंचुरियन में किया था. हालांकि, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे ने दूसरी पारी में शानदार अर्धशतक बनाए. लेकिन सीनियर बल्लेबाजी जोड़ी अभी पूरी तरह से फॉर्म में नहीं आए हैं. टीम यह भी उम्मीद कर रही होगी कि जोहानिसबर्ग में दूसरी पारी में खराब शॉट मारकर आउट होने वाले ऋषभ पंत इस बार बेहतर खेल दिखाएंगे.

वहीं, चोट के कारण मोहम्मद सिराज केपटाउन में उपलब्ध नहीं रहेंगे. इसलिए उनकी जगह पर उमेश यादव या ईशांत शर्मा के खेलने की संभावना है. इसके अलावा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, शार्दुल ठाकुर और रविचंद्रन अश्विन पहले की तरह शिरकत करते नजर आएंगे.

दक्षिण अफ्रीका जोहानिसबर्ग में कप्तान डीन एल्गर और तेज गेंदबाज कगिसो रबाडा के प्रदर्शन से उत्साहित होगा. वहीं, वह कीगन पीटरसन, रस्सी वैन डेर डूसन और टेम्बा बावुमा के प्रदर्शन से भी प्रसन्न होंगे.

कप्तान एल्गर, तेज गेंदबाज रबाडा के साथ कई खिलाड़ियों के साथ उनकी बातचीत हुई, जिससे पता चलता है कि वह अपने खिलाड़ियों से क्या चाहते थे. रबाडा ने अपना 50वां टेस्ट मैच खेलने के अलावा, लुंगी एनगिडी, डुआने ओलिवर और मार्को जेनसेन न्यूलैंड्स में शानदार गेंदबाजी कर सकते हैं.

वहीं केशव महाराज पर एक बार फिर से भरोसा जताया जा सकता है. कुल मिलाकर भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच निर्णायक मैच में कोई भी सीरीज भी कब्जा कर सकता है, क्योंकि दोनों सामान्य रूप से दावेदार नजर आ रहे हैं.

दोनों टीमें इस प्रकार हैं

भारत: विराट कोहली (कप्तान), केएल राहुल, अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा, प्रियांक पांचाल, हनुमा विहारी, श्रेयस अय्यर, मयंक अग्रवाल, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रिद्धिमान साहा, रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद सिराज, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, जयंत यादव, इशांत शर्मा, शार्दुल ठाकुर और उमेश यादव.

दक्षिण अफ्रीका: डीन एल्गर (कप्तान), एडेन मार्करम, कीगर पीटरसन, रासी वैन डेर डूसन, टेम्बा बावुमा, सरेल इरवी, जॉर्ज लिंडे, मार्को जेनसेन, वियान मुल्डर, प्रेनेलन सुब्रेयन, काइल वेरेने (विकेटकीपर), रेयान रिकेल्टन, कैगिसो रबाडा, लुंगी एनगिडी, बेउरन हेंड्रिक्स, केशव महाराज, ग्लेनटन स्टुरमैन, सिसांडा मगला और डुआने ओलिवर.

spot_img
1,717FansLike
247FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe