कोरोना के नए वैरिएंट ने दी भारत में दस्तक, मुंबई में मिला XE और कप्पा का पहला केस

मुंबई : कोविड-19 के ज्यादा संक्रामक स्वरूप XE का पहला मामला मुंबई में सामने आया है. बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

अधिकारी ने बताया कि फरवरी में दक्षिण अफ्रीका से यहां आई एक महिला में ओमीक्रोन के इस उप स्वरूप के संक्रमण की पुष्टि हुई. महिला में किसी तरह के लक्षण नहीं थे और वह ठीक हो चुकी है. हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस वेरिएंट की पुष्टि नहीं की है.

उन्होंने बताया कि सीरो सर्वेक्षण के दौरान कोरोना वायरस के कप्पा स्वरूप के एक मामले की भी पुष्टि हुई है. उन्होंने कहा कि जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशाला में 11वें बैच के 376 नमूनों के अनुक्रमण में इस परिणाम का पता चला. कप्पा स्वरूप के मामले मुंबई में पहले भी आए थे. सीरो सर्वेक्षण के मुताबिक, मुंबई से भेजे गए 230 नमूनों में 228 ओमीक्रोन के जबकि एक कप्पा का तथा एक XE स्वरूप का था. अधिकारी ने कहा कि नए स्वरूप से संक्रमित मरीज की हालत गंभीर नहीं थी.

बीएमसी के अधिकारी ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि XE स्वरूप ओमीक्रोन के उप स्वरूप BA.2 से 10 गुणा अधिक संक्रामक है. अब तक कोविड-19 के सभी स्वरूपों में BA.2 को सबसे ज्यादा संक्रामक माना जाता रहा है.

ओमीक्रोन के स्वरूप, BA.1 और BA.2 में बदलाव से यह XE स्वरूप बना है. प्रारंभिक अध्ययन के मुताबिक बीए.2 के मुकाबले XE की वृद्धि दर 9.8 प्रतिशत है. जांच के दौरान इसकी पहचान भी मुश्किल होती है इसलिए इसे ‘स्टील्थ वेरिएंट’ कहा जाता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि बदलाव के बाद बना यह स्वरूप पूर्व के स्वरूपों की तुलना में ज्यादा संक्रामक हो सकता है. बीएमसी की कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी मंगला गोमरे ने बताया कि एक्सई स्वरूप से संक्रमित पाई गई महिला दक्षिण अफ्रीका से आई थी और आगमन के तीन सप्ताह बाद संक्रमण की पुष्टि हुई. गोमरे ने कहा, ‘महिला में किसी तरह के लक्षण नहीं थे और अगले दिन जांच में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई.’

यह महिला कास्टयूम डिजाइनर थी जो एक फिल्म की शूटिंग के दल का हिस्सा थी. वह 10 फरवरी 2022 को दक्षिण अफ्रीका से आई थी. अधिकारी ने कहा कि महिला ने इससे पूर्व किसी अन्य जगह की यात्रा नहीं की थी और ‘कोमिरनेटी’ टीके की दोनों खुराकें ले रखी थी. भारत आने पर नियमित जांच के दौरान दो मार्च को वह संक्रमित पाई गई थी. महिला को उस दौरान एक होटल में पृथक-वास में रखा गया है. यह पूछे जाने पर कि क्या भारत में एक्सई स्वरूप का यह पहला मामला है, बीएमसी अधिकारियों ने कहा कि वे इसकी पुष्टि नहीं कर सकते.

(इनपुट ईटीवी भारत)

spot_img
1,712FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe