कर्नाटक की बहादुर छात्रा मुस्कान खान को पांच लाख रुपये इनाम देगी जमीयत उलेमा ए हिन्द

कर्नाटक के कॉलेजों में हिजाब पहनने को लेकर छिड़ी बहस के बीच जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी ने अल्लाहू अकबर का नारा लगाने वाली छात्रा मुस्कान खान को बधाई देते हुए पांच लाख रुपये का नकद इनाम देने का ऐलान किया है. जमीयत उलेमा ए हिन्द ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है.

जमीयत उलेमा ए हिन्द ने ट्वीट किया है कि हिजाब मुस्लिम महिलाओं का एक बुनियादी अधिकार है जिससे उन्हें वंचित नहीं किया जा सकता.

जमीयत उलेमा ए हिन्द ने एक और ट्वीट किया है कि अपने संवैधानिक और धार्मिक अधिकारों के लिए विरोध की तेज और गर्म हवा के सामने डट कर पूरे हौसले से मुकाबला करने वाली महात्मा गांधी कॉलेज उडुपी की बहादुर छात्रा बीबी मुस्कान खान को जमीयत अध्यक्ष मौलाना महमूद असद मदनी साहब की हार्दिक बधाई एवं उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं.

जमीयत द्वारा किए गए इस कार्य को मौलाना महमूद मदनी ने अपनी फेसबुक पर भी साझा किया है. साथ ही जमीयत की ऑफिशियल वेबसाइट पर भी इस संबंध में एक लेख व पोस्टर भी अपलोड किया है. इसमें मौलाना मदनी ने मुस्कान को बहादुर लड़की बताया है.

बता दें कि भगवा शाल पहने छात्र, हिजाब पहनी लड़की का पीछा करते हुए वीडियो सामने आने के बाद ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भी लड़की की तारीफ की है. असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि ‘मैं लड़की के मां-बाप को सलाम पेश करता हूं. इस लड़की ने मिशाल पेश की है. भीख मांगकर और रोकर कुछ भी नहीं मिलेगा. उस लड़की ने कई कमजोरों को पैगाम दिया है. लड़की ने जो किया वह बहुत हिम्मत का काम था.’ उधर, जमीयत के इस ऐलान पर इंटरनेट मीडिया पर क्रिया-प्रतिक्रिया का दौर चल रहा है.

बता दें कि हिजाब को लेकर विवाद जनवरी में उस समय शुरू हुआ जब कर्नाटक के उडुपी के सरकारी गर्ल्स पीयू कॉलेज की 6 छात्राओं ने हिजाब पहनने के कारण क्लास में एंट्री नहीं देने का आरोप लगाया था. इस विवाद के बाद वहां हिजाब बनाम भगवा की लड़ाई शुरू हो गई. उडुपी और चिकमगलूर में भगवा छात्रों ने मुस्लिम लड़कियों को हिजाब पहनने पर आपत्ति जताई थी.

कर्नाटक में हिजाब विवाद को लेकर जबरदस्त हंगामा जारी है. कल दिनभर कॉलेजों में भगवा शाल पहने छात्रों ने हिजाब के विरोध में प्रदर्शन करते रहे. इसके बाद राज्य सरकार ने अगले तीन दिन के लिए स्कूल-कॉलेज बंद करने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी थी.

इससे पहले कर्नाटक हाईकोर्ट में मंगलवार को हिजाब मामले में मुस्लिम छात्राओं की 4 याचिकाओं पर सुनवाई हुई. जस्टिस कृष्णा दीक्षित ने कहा कि हम कारणों और कानून के मुताबिक चलेंगे. किसी के जुनून या भावनाओं से नहीं. जो संविधान कहेगा, हम वही करेंगे. कोर्ट आज इस मामले पर सुनवाई करेगा.
spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe