गाजियाबाद में गोश्त की दुकानें बंद, विधायक की धमकी पर कार्रवाई शुरू

उत्तर प्रदेश के ज़िला गाजियाबाद में बीजेपी विधायक की धमकी पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है. मुसलमानों के कारोबार को निशाना बनाया जा रहा है. अभी तक गोश्त की दुकानें एक समस्या थीं लेकिन अब मुस्लिम होटलों को भी बंद करने का आदेश दिया गया है.

ईटीवी भारत खबर के अनुसार, यह सब गाजियाबाद लोनी से बीजेपी के विधायक नंद किशोर गुर्जर के इशारे पर हो रहा है, जो लगातार मुसलमानों को निशाना बनाते रहते हैं. वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा प्रभारी एनएन झा ने घूम घूम कर होटलों और गोश्त की दुकानों का दौरा किया और दुकानें बंद करा दीं. धमकी दी कि दोबारा खोलने पर लाइसेंस जब्त कर लिया जाएगा और कानूनी कार्रवाई की जाएगी. ऐसे धमकी दी जा रही जैसे दोयम दर्जे के नागरिक हों.

2 अप्रैल से अगले 9 दिनों तक गोश्त की दुकानें बंद रहेंगी. जिला प्रशासन ने खाद्य सुरक्षा विभाग को नवरात्रि त्योहार के मद्देनजर मांस की दुकानों और मांसाहारी होटलों को बंद करने का निर्देश दिया है. इसके लिए खाद्य सुरक्षा विभाग की छह टीमों का गठन किया गया है. टीमों ने शुक्रवार को जिले का दौरा कर वेंडरों को दो अप्रैल से नौ दिन तक दुकानें बंद रखने का निर्देश दिया. इस दौरान चिकन बनाने और पकाने पर पूरी तरह से रोक रहेगी.

बता दें कि 12 मार्च को गाजियाबाद के लोनी इलाके से बीजेपी विधायक नंद किशोर गुर्जर ने कहा था कि लोनी इलाके में एक भी मीट की दुकान नहीं चलने दी जाएगी.

उन्होंने कहा था कि ‘मैं आपके माध्यम से अधिकारियों को संदेश देना चाहता हूं कि अगर कोई मीट की दुकान चलाते हुए नज़र आया तो वह अधिकारी वहां नहीं रहेगा. क्योंकि लोनी में रामराज है.’

उन्होंने कहा था ‘ना अली, ना बाहुबली, लेनी में सिर्फ बजरंगबली’. चुनाव के दौरान यह नारा काफी चर्चा में था जिस पर चुनाव आयोग ने विधायक को नोटिस भी जारी किया था.

spot_img
1,712FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe