शाहीनबाग और कालिंदीकुंज में अवैध अतिक्रमण न मिलने के कारण नगर निगम को वापस लौटना पड़ा

नई दिल्ली: राजधानी के रिहायशी व व्यावसायिक इलाकों से निगम द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई आज गुरुवार काे दक्षिणी दिल्ली के कालिंदी कुंज और शाहीन बाग में होने वाली थी लेकिन नगर निगम को शाहीनबाग और कालिंदीकुंज में अवैध अतिक्रमण नहीं मिला, जिसकी वजह से उन्हें वापस जाना पड़ा.

ओखला के शाहीनबाग़ से काउंसलर वाजिद ख़ान ने इंडिया टुमारो से बात करते हुए बताया कि नगर निगम के लोग बुलडोज़र ले कर आये थे लेकिन उन्हें यहां पर किसी भी तरह का अवैध अतिक्रमण नहीं मिला जिसका वजह से उन्हें वापस लौटना पड़ा.

उन्होंने आरोप लगाया कि दक्षिणी निगम के महापौर मुकेश सूर्यान और दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष आदेश गुप्ता चाहते हैं कि शाहीनबाग़ में हिंसा हो और अपनी बुलडोज़र भेज कर शाहीनबाग़ में कार्रवाई करें लेकिन हमारी जनता बहुत समझदार है जो भी थोड़ा बहुत अतिक्रमण था उसको पहले ही हटा लिया गया था.

उन्होंने कहा कि शाहीनबाग़ और मुस्लिम इलाक़ों को सिर्फ राजनीतिक ढंग से टारगेट किया जा रहा है और यहां पर सब पढ़े लिखे लोग रहते हैं इसलिए इस तरह की कार्रवाई से कोई सहमत नहीं है.

बता दें कि बुधवार को निगम ने तुगलकाबाद के करणी सिंह शूटिंग रेंज में अतिक्रमण हटाया था. शाहीन बाग, ओखला, जामिया नगर, जसोला समेत दूसरे इलाकों से अतिक्रमण हटाने का 10 दिवसीय अभियान नगर निगम एक बार फिर से शुरू किया है. इस दौरान अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलेगा. वहीं, ईद के बाद उत्तरी और पूर्वी दिल्ली नगर निगम भी अपने इलाके में अभियान चला रहे हैं.

ईटीवी भारत रिपोर्ट के अनुसार, नगर निगम गुरुवार पांच मई से कालिंदी कुंज पार्क, जामिया नगर थाना, श्रीनिवासपुरी कॉलोनी, ओखला रेलवे स्टेशन, गांधी कैंप, शाहीन बाग, जसोला, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी, लोधी कॉलोनी, मेहरचंद मार्केट, सांई बाबा मंदिर रोड, जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम, धीरसेन मार्ग, इस्कॉन मंदिर मार्ग, खड्डा कॉलोनी और कालका मंदिर के समीप अतिक्रमण हटाने के लिए एक्शन प्लान जारी किया है. यह अभियान 13 मई तक चलेगा. जामिया नगर में गुरुवार को, छह मई को ओखला और नाै मई को शाहीन बाग के जी ब्लाक और जसोला में अभियान चलेगा.

दक्षिणी निगम के महापौर मुकेश सूर्यान ने बताया कि ईद के बाद अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चरण शुरू हो गया है. इस संबंध में दक्षिण और दक्षिण पूर्व जिले के पुलिस उपायुक्त को पत्र लिखकर फोर्स मांगी गई थी. बुधवार को करणी शूटिंग रेंज इलाके में अतिक्रमण के खिलाफ सामान्य रूप से अभियान चलाया गया. सड़कों पर फैले अतिक्रमण को बुलडोजर के जरिये साफ कर दिया गया.

निगम द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई का विरोध भी हो रहा है. दिल्ली के करीब 35 नामचीन शख्सियतों ने अतिक्रमण हटाओ अभियान के खिलाफ दिल्ली सरकार और नगर निगमों को पत्र लिखकर तुरंत इस पर रोक लगाने की मांग की है. इनमें अर्थशास्त्री जयंती घोष, अखिल भारतीय लोकतांत्रिक महिला संघ की सदस्य मालिनी भट्टाचार्य, मरियम धवले, सामाजिक कार्यकर्ता अंजलि भारद्वाज और अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला संघ की सदस्य कविता कृष्णन शामिल हैं.

spot_img
1,712FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe