आर्यन खान के खिलाफ नहीं मिला कोई सबूत, एनसीबी की जांच में खुलासा

बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को ड्रग्स केस में बहुत जल्द क्लीन चिट मिल सकती है. क्योंकि आर्यन खान के खिलाफ नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की स्पेशल टीम एसआईटी को कोई संदिग्ध सबूत नहीं मिला है. एसआईटी ने जानकारी दी है कि आर्यन खान किसी ड्रग्स साजिश या इंटरनेशनल ड्रग्स ट्रैफिकिंग सिंडिकेट का हिस्सा नहीं थे.

इस केस में एनसीबी की मुंबई यूनिट के विपरित एसआईटी ने कुछ तथ्य निकाले हैं. इन तथ्यों से यह बात सामने निकलकर आई है कि ड्रग्स केस में आर्यन खान के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है. इसलिए आर्यन का फोन लेने और चैट की पड़ताल करने की कोई जरूरत नहीं थी.

ईटीवी भारत के अनुसार, आर्यन की व्हॉट्सएप चैट में ऐसा कुछ भी नहीं मिला है, जिससे यह साबित हो कि वह किसी इंटरनेशनल ड्रग्स रैकेट का हिस्सा थे. एसआईटी ने बताया कि छापे का कोई वीडियो और ऑडियो रिकॉर्ड भी नहीं है, जो कि एनसीबी मैनुअल में जरूरी माना जाता है. इस मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पास से बरामद नशीली दवाओं को सिंगल रिकवरी के रूप में दिखाया गया है.

गौरतलब है कि 2 अक्टूबर 2021 की रात मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज पर चल रही ड्रग्स पार्टी पर एनसीबी की छापेमारी में आर्यन खान समेत नौ लोगों को धरा गया था. इस मामले में आर्यन खान मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में 20 दिन से ज्यादा रहे थे.

वहीं, इस मामले में आर्यन खान के वकील ने बॉम्बे हाईकोर्ट में जमानत अर्जी दाखिल की थी. बॉम्बे हाईकोर्ट ने 28 अक्टूबर 2021 को आर्यन खान को सशर्त जमानत दी थी. कोर्ट ने अपने फैसले में आर्यन खान के देश से बाहर जाने और बाकी के आरोपियों से मिलने पर रोक लगा दी थी.

आर्यन खान का पासपोर्ट भी एनसीबी कार्यालय ने जब्त कर लिया था. शुरुआती दिनों में आर्यन खान को हर शुक्रवार एनसीबी कार्यालय में हाजिरी लगाने का भी आदेश दिया गया था.

एसआईटी ने रिपोर्ट पेश की है. रिपोर्ट के मुताबिक, आर्यन के पास से कोई ड्रग्स बरामद नहीं हुआ है. ऐसे में एनसीबी के तत्कालीन संभागीय निदेशक समीर वानखेड़े की भूमिका पर एक बार फिर सवाल खड़ा हो गया है.

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe