‘हिजाब विवाद से अब तक कोई लिंक सामने नहीं आया’: हत्‍या पर कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र

बजरंग दल (Bajrang Dal) के एक कार्यकर्ता की कल रात चाकू मारकर हत्‍या किए जाने के बाद कर्नाटक के शिवमोगा कस्‍बे (Karnataka’s Shivamogga town) में तनाव की स्थिति है. तनाव के बीच वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया और कुछ स्‍थानों पर पथराव की घटनाएं भी हुईं. राज्‍य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा है कि अब तक की जांच में हिजाब विवाद और इस हत्‍या का कोई लिंक सामने नहीं आया है. हालांकि एक अन्‍य मंत्री ने एक कांग्रेस नेता पर हत्‍या के लिए उकसाने का आरोप लगाया जिससे राजनीतिक आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर शुरू हो गया है.

अरागा ज्ञानेंद्र ने मीडिया से चर्चा में कहा, ‘हिजाब विवाद का इस घटना से कोई संबंध नहीं है और घटना कुछ अन्‍य कारणों से हुई है. शिवमोगा संवेदनशील शहर है.’ हालांकि उनके कार्यालय ने कहा है कि पुलिस हर एंगल से मामले की तफ्तीश कर रही है. आगजनी की घटनाओं के बाद बड़ी संख्‍या में पुलिसबल तैनात कर दिया गया है और लोगों के एकत्रित होने पर रोक लगा दी गई है. जिले में स्‍कूल और कॉलेज बंद रहेंगे. सीएम बासवराज बोम्‍मई ने कहा है कि पुलिस के कुछ सुराग मिले हैं और वह इस पर काम कर रही है.

इस बीच कर्नाटक के ग्रामीण विकास मंत्री केएस ईश्‍वरप्‍पा ने राज्‍य कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार पर हिजाब विवाद पर तीखी टिप्‍पणियों के साथ साथ हत्‍या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है. टेलर के तौर पर काम करने वाले बजरंग दल कार्यकर्ता हर्षा की हत्‍या का जिक्र करते हुए मंत्री ने कहा, ‘वह बहुत अच्‍छा और ईमानदार कार्यकर्ता था. कल रात मुस्लिम गुंडों ने उसकी हत्‍या कर दी. हाल में डीके शिवकुमार ने दावा किया था कि राष्‍ट्रीय ध्‍वज को भगवा ध्‍वज से बदला गया और हिजाब विरोध प्रदर्शन के लिए सूरत की एक फैक्‍टरी में करीब 50 लाख भगवा शॉल के ऑर्डर दिए गए. उनके इस बयान के बाद गुंडागर्दी बढ़ गई लेकिन हम इसे जारी नहीं रहने देंगे. हम मारे गए शख्‍स के परिजनों की पूरी मदद करेंगे.’

उधर, शिवकुमार ने मंत्री ईश्‍वरप्‍पा को ‘पागल व्‍यक्ति’ करार दिया और उनके इस्‍तीफे की मांग की. नेता प्रतिपक्ष और पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने कानून व्‍यवस्‍था की नाकामी के लिए राज्‍य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र के इस्‍तीफे की मांग की है. उन्‍होंने इस बात की ओर भी ध्‍यान दिलाया कि हत्‍या की घटना गृह मंत्री के विधानसभा क्षेत्र में हुई.

एनडीटीवी से बात करते हुए एक पुलिस अधिकारी ने इन रिपोर्ट्स का खंडन किया कि हर्षा की हत्‍या का संबंध स्‍टूडेंट्स स्‍कूल-कॉलेज कैंपस में हिजाब मामले को लेकर मौजूदा विवाद से है. कर्नाटक के गृहमंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा कि हर्षा की हत्या में 4-5 लोग शामिल हो सकते हैं.  पुलिस को सुराग मिला है. जांच के बाद ही हत्या का कारण पता चलेगा. इसके पीछे किसी संगठन के हाथ के बारे में कोई जानकारी नहीं है. सुरक्षा के समुचित इंतजाम किए गए हैं. रात में कुछ विरोध प्रदर्शन हुए हैं, लेकिन अब स्थिति नियंत्रण में है. मामले में शिवमोगा जिले के डोडापेटे पुलिस स्‍टेशन में केस दर्ज किया गया है.

(इनपुट) एनडीटीवी

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe