NTPC-RRB छात्रों का आंदोलन हिंसक हुआ, पुलिस ने जमकर लाठियां चलाई और आंसू गैस के गोले दागे

एनटीपीसी-आरआरबी (NTPC-RRB) रिजल्ट में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए प्रदर्शनकारी छात्रों ने बिहार के नवादा में निरीक्षण करने वाली रेल इंजन में आग लगा दी है. इसके बाद फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंचकर आग बुझाने में जुट गई हैं. ईटीवी भारत की ख़बर के अनुसार, राज्यभर में विभिन्न स्टेशनों पर छात्रों का भारी जमावड़ा है, छात्रों में आक्रोश है. रिजल्ट में धांधली का आरोप लगाते हुए हजारों की संख्या में अभ्यर्थी एकजुट होकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. विरोध का आलम ये है कि रेल यातायात बाधित है. छात्रों पर लाठियां बरसाई जा रही हैं.

सोमवार से शुरू हुए एनटीपीसी अभ्यर्थियों का आंदोलन उग्र रूप लेता जा रहा है. पटना के राजेन्द्रनगर टर्मिनल पर छात्रों की एकजुटता और पुलिस के द्वारा लाठीचार्ज किए जाने के बाद इस विरोध की आग विभिन्न जिलों तक पहुंच गई है. मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, वैशाली, बक्सर, नवादा सहित अन्य जिलों में भी ट्रेनें रोकी जा रही हैं.

हाल ही में जारी किए गए आरआरबी एनटीपीसी की परीक्षा के परिणाम में धांधली का आरोप लगाकर छात्र लगातार उग्र प्रदर्शन कर रहे हैं. रेलवे और सरकार के खिलाफ छात्रों का यह प्रदर्शन दिन प्रतिदिन उग्र ही होता जा रहा है. छात्रों को तितरबितर करने के लिए पुलिस ने जमकर लाठियां चलाई और आंसू गैस के गोले दागे.

इससे पहले, आरआरबी एनटीपीसी की परीक्षा के परिणाम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए सैकड़ों छात्र सोमवार को पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल पहुंच गए और जमकर हंगामा करते हुए रेल पटरी जाम कर दिया. इधर, छात्रों के प्रदर्शन के कारण कई ट्रेनों के परिचालन को रद्द कर दिया गया है या उनके मार्ग में परिवर्तन कर चलाया जा रहा है.

अभ्यर्थियों का आरोप है कि 2019 में भर्ती के लिए विज्ञापन निकाला गया। आंदोलन के बाद 2021 में परीक्षा हुई. रिजल्ट जो जारी किया गया, उसमें गड़बड़ी की गई. छात्रों का आरोप है कि जब विज्ञापन निकाला गया था तब एक चरण में परीक्षा लेने के लिए कहा गया था, अब दूसरे चरण की परीक्षा की तिथि निकाली गई है.

छात्रों के प्रदर्शन को देखते हुए रेलवे ने कई ट्रेनों के परिचालन को रद्द किया है. पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि दानापुर मंडल के राजेंद्र नगर टर्मिनल स्टेशन पर हो रहे प्रदर्शन के कारण कुछ ट्रेनों के परिचालन में बदलाव किया गया है.

 

वहीं, आरजेडी के प्रवक्ता और सांसद मनोज झा ने ट्विटर पर लिखा है कि ‘ये अभ्यर्थी आपसे आपकी कुर्सी नही मांग रहे थे मा. मुख्यमंत्री जी…अपने सरोकार और अधिकारों के लिए गुहार लगा रहे थे। आंसू गैस के ये गोले जल्द ही सत्ता शीर्ष के लोगों को आंसू बहाने को मजबूर कर देंगे…सनद रहे!.’

दूसरी तरफ आरजेडी ने कहा, ‘ये अभ्यर्थी कुर्सी नहीं, सत्ता नहीं सिर्फ अपना हक़ मांग रहे थे, ऐसा लगता है सरकार अंधी और गूंगी हो गई है.’

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe