छात्रों को भड़काने का आरोप: खान सर समेत कई लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

बिहार की राजधानी पटना में खान सर (Bihar Khan Sir) पर एफआईआर दर्ज किया गया है. राजेन्द्र नगर स्टेशन के पास 24 जनवरी को आरआरबी एनटीपीसी (RRB NTPC Exam) को लेकर हुए छात्रों के हंगामे के बाद खान सर की मुश्किलें बढ़ने वाली है.

ईटीवी भारत की ख़बर के अनुसार, आंदोलन के लिए छात्रों को उकसाने और उन्हें हिंसा के लिए प्रेरित करने के मामले में गिरफ्तार प्रदर्शनकारियों के बयान पर पटना वाले खान सर, एसके झा सर, नवीन सर, अमरनाथ सर, गगन प्रताप सर, गोपाल वर्मा सर समेत बाजार समिति के विभिन्न कोचिंग संस्थानों के संचालकों के खिलाफ पटना के पत्रकार नगर थाना में मामला दर्ज किया गया है.

पत्रकार नगर थाना के थानेदार की शिकायत पर दर्ज एफआईआर में चार गिरफ्तार छात्रों के अलावा पटना के विभिन्न कोचिंग संचालकों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज किया गया है. साथ ही अज्ञात 300 से 400 लोगों के खिलाफ षड्यंत्र के तहत मजमा लगाकर सड़क मार्ग को बाधित करने, दंडाधिकारियों और पुलिसकर्मियों को अपमानित करने, तोड़फोड़ करने, यातायात और लोकमार्ग को बाधित करने आदि के आरोप में मामला दर्ज किया गया है.

गौरतलब है कि आरआरबी एनटीपीसी की परीक्षा के रिजल्ट में धांधली के आरोप मामले को लेकर लगातार परीक्षार्थी हंगामा कर रहे हैं. सोमवार को पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल पर रेल रोककर हजारों परीक्षार्थियों ने रिजल्ट में सुधार की मांग केंद्र सरकार से की थी. वहीं, मंगलवार को पटना के कदम कुआं थाना क्षेत्र के बीच पहाड़ी इलाके में पुलिस पर रिजल्ट में सुधार की मांग को लेकर परीक्षार्थियों ने जमकर हंगामा और पथराव किया था. जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए थे.

इसके साथ ही बुधवार को बिहार के कई जिलों में आरआरबीएनटीपीसी परीक्षार्थियों ने आक्रोश प्रदर्शन किया. इसी कड़ी में गया जिले के गया जंक्शन पर परीक्षार्थियों ने ट्रेन के बोगी में आग भी लगा दी. सोमवार को पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल पर हुए हंगामे के बाद इस मामले में गिरफ्तार परीक्षार्थियों के बयान पर आंसर सहित अन्य कई शिक्षकों पर विरूद्ध मामला दर्ज किया गया है.

कौन हैं खान सर ?

खान सर पटना में जीएस रिसर्च कोचिंग सेंटर के संचालक हैं. वह बिहारी अंदाज में जीएस के टॉपिक समझाते हैं और पटना वाले खान सर के नाम से मशहूर हैं. उनको जीएस के टॉपिक को आसान बनाकर पढ़ाने में महारथ हासिल है. वे इसी विषय के वीडियो यूट्यूब पर बनाकर डालते हैं. उनके यूट्यूब चैनल पर 1 करोड़ से ज्यादा सब्सक्राइबर्स हैं. इससे पहले भी पटना के खान सर का नाम विवादों में रह चुका है.

खान सर ने दी थी सफाई

एबीपी न्यूज के अनुसार, खान सर ने खुद पर मुकदमा होने से पहले खुद को बेगुनाह बताया था. उन्होंने आरोप लगाया कि आरआरबी की वजह से घटनाएं हुईं है. उन्होंने कहा था कि सबसे बड़ी समस्या यह आई कि 24 जनवरी को जब राजेंद्र नगर टर्मिनल पर 500 के करीब एनटीपीसी के छात्र हंगामा कर रहे थे, तभी आरआरबी ने ग्रुप डी वालों के लिए तीन बजे ऑफिशियल नोटिफिकेशन जारी कर दिया. एनटीपीसी के छात्र सोच रहे थे कि कुछ अच्छी सूचना मिलेगी. लेकिन आरआरबी की नोटिफिकेशन ने आग में घी डालने का काम किया. बोर्ड का नोटिफिकेशन ग्रुप डी वालों के लिए था. नोटिफिकेशन में बताया गया था कि ग्रुप-डी के अभ्यर्थियों का अब मेंस एग्जाम लिया जाएगा.

spot_img
1,717FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe