अलवर में मूक बधिर बालिका से दुष्कर्म: प्रियंका गांधी ने जाना हाल, पीड़िता के पिता को दिया मदद का भरोसा

राजस्थान के अलवर में मूक बधिर बालिका से दुष्कर्म मामले ने राजस्थान की राजनीति में भूचाल ला दिया है. इस मुद्दे को लेकर भाजपा लगातार आक्रमक है. भाजपा ने इस मामले को कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी के साथ जोड़ दिया है. भाजपा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं कहती हैं तो राजस्थान में लड़की हूं तो लड़ना मना है’. इन आरोपों के बीच अब प्रियंका गांधी ने अलवर में पीड़ित बालिका के पिता से बात की है.

ईटीवी भारत की ख़बर के अनुसार, यह जानकारी उत्तर प्रदेश के सह प्रभारी कांग्रेस सचिव धीरज गुर्जर ने ट्वीट कर दी है. उन्होंने ट्वीट में लिखा है अलवर में जो घटना हुई है वह ना काबिले बर्दाश्त है. पीड़िता के पिता से प्रियंका गांधी ने फोन पर बात की है और उन्हें हर संभव मदद देने का भरोसा दिया है. साथ ही किसी भी प्रकार की सहायता के लिए सीधा संपर्क करने के लिए कहा है.

 

धीरज गुर्जर ने ट्वीट में बताया कि पीड़िता के पिता से बात करने के साथ ही प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भी इस घटना की जानकारी ली है. उन्होंने पीड़िता के इलाज, पीड़ित परिवार का ख्याल रखने और दोषियों के खिलाफ जल्द कार्रवाई करने का आग्रह किया है.

रिपोर्ट के मुताबिक नहीं हुआ दुष्कर्म

अलवर में विमंदित मूक बधिर बालिका के साथ दुष्कर्म के मामले में शुक्रवार को नया मोड़ आया. अलवर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जयपुर के जेके लोन अस्पताल में 5 डॉक्टरों की एक टीम ने बालिका की मेडिकल जांच की है. उनकी रिपोर्ट अलवर पुलिस को मिल चुकी है. रिपोर्ट के मुताबिक बालिका के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ है. बालिका पूरी तरह से ठीक है.

भाजपा नेताओं ने कांग्रेस सरकार को घेरा, कहा-सीएम के इशारे पर चल रहा खेल

मानसिक विकलांग बालिका से दुष्कर्म का मामला प्रदेश सरकार के गले की हड्डी बन चुका है. भाजपा की तरफ से इस पूरे मामले की जांच पड़ताल के लिए एक टीम बनाई गई है. इस टीम ने पीड़िता व उसके परिजनों से जेके लोन अस्पताल में पहुंचकर मुलाकात की. यह टीम शनिवार को पीड़िता के अलवर स्थित घर भी पहुंची. टीम ने परिजनों से बातचीत की व न्याय का आश्वासन दिलाया.

ईटीवी भारत की ख़बर के अनुसार, भाजपा विधायक रामलाल शर्मा ने प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार के इशारे पर यह पूरा खेल चल रहा है. घटना के बाद अलवर पुलिस के अधिकारियों ने पीड़िता के मामा को बुलाया व गैंगरेप की बात कही. उस समय पीड़िता की जांच पड़ताल करने वाले डॉक्टरों ने कहा कि पीड़िता के साथ सेक्सुअल हरासमेंट हुआ है. पीड़िता की हालत गंभीर देख उसे जयपुर भेजा गया. जिन डॉक्टरों ने इलाज किया, उन्होंने कहा कि इतनी दुखद घटना की पुनरावृत्ति नहीं होनी चाहिए. उस समय भी दुष्कर्म व गैंगरेप की बात सामने आई थी.

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe