Russia Ukraine War: रूसी सेना का हमला तेज़, रिहायशी इलाकों में बरसे गोले, भारतीय छात्र की भी मौत

यूक्रेन पर रूसी हमले (Russian Invasion of Ukraine) के छठे दिन भी कीव और खारकीव जैसे शहरों में भारी बमबारी होती रही. रूस के रक्षा मंत्री ने कहा है कि उनका देश सारे लक्ष्य हासिल करने तक यूक्रेन के खिलाफ सैन्य अभियान जारी रखेगा. रूस ने यूक्रेन की राजधानी कीव और दूसरे बड़े शहर खार्किव में गोलाबारी तेज कर दी है. इस हमले में खार्किव में आज सुबह एक भारतीय छात्र की मौत हो गई. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट कर कहा, ‘गहरे दुख के साथ हम पुष्टि करते हैं कि आज सुबह खार्किव में गोलाबारी में एक भारतीय छात्र की मौत हो गई. मंत्रालय उनके परिवार के संपर्क में है. हम परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं.’

मृतक छात्र कर्नाटक के हावेरी जिले का रहने वाला था, जिसकी पहचान नवीन ज्ञानगौडर के रूप में की गई है. जानकारी के अनुसार, नवीन चतुर्थ वर्ष (मेडिकल) के छात्र थे. वहीं, नवीन की मौत की खबर के बाद उनके गांव में मातम पसर गया है. आसपास के लोग परिजनों को सांत्वना देने के लिए उनके घर पहुंच रहे हैं.

नवीन ज्ञानगौडर, फोटो : ईटीवी भारत

यूक्रेन में भारतीय छात्र की मौत पर नेताओं ने शोक व्यक्त किया है. कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने ट्वीट कर कहा कि यह एक भयानक त्रासदी है. उनका दिल पीड़ित परिवार और उन सभी के परिवारों के लिए है जो अभी भी यूक्रेन में फंसे हुए हैं. हमें उन्हें घर पहुंचाने के लिए हरसंभव प्रयास करना चाहिए.

इस बीच, भारत ने आज अपने सभी नागरिकों से यूक्रेन की राजधानी कीव को तत्काल छोड़ने का आग्रह किया है. यूक्रेन में भारतीय दूतावास की ताजा एडवाइजरी में कहा गया है, छात्रों सहित सभी भारतीय नागरिकों को आज तत्काल कीव छोड़ने की सलाह दी जाती है. अब तक यूक्रेन से भारत कुल 1922 लोग लौट चुके हैं.

ब्रिटिश रक्षा मंत्रालय ने बताया है कि रूसी सेना ने यूक्रेन की राजधानी कीव के उत्तरी इलाके, दूसरे शहर खारकीव और चेर्निहाइव में हमले तेज कर दिया हैं और घनी आबादी वाले इलाकों में तोप से गोले बरसा रहे हैं. रूसी हमले में 70 यूक्रेनी सैनिकों की मौत हो गई है. रूसी हमले के बाद पांच दिनों में करीब साढ़े तीन लाख यूक्रेनी शरणार्थियों ने पड़ोसी देश पोलैंड में शरण ली है. पोलैंड के उप गृह मंत्री ने मंगलवार को कहा कि रूसी आक्रमण के बाद से लगभग 350,000 लोग यूक्रेन से पोलैंड में प्रवेश कर चुके हैं.

उधर, यूरोपीय संघ (EU) ने रूस पर कड़े प्रतिबंधों को आगे बढ़ाते हुए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) के प्रवक्ता, रूस के कुलीन वर्ग और पत्रकारों पर भी यात्रा प्रतिबंध लगा दिया है. उधर, बीती रात संयुक्त राष्ट्र महासभा में यूक्रेन पर रूसी हमलों के खिलाफ बुलाई गई महासभा की विशेष बैठक में यूएन महासचिव एंटोनिओ गुटेरस ने युद्धविराम और सैनिकों की तुरंत वापसी का आह्वान किया है. गुटेरस ने कहा कि यूक्रेन में लड़ाई बंद होनी चाहिए. यूएन प्रमुख ने कहा, ”हम यूक्रेन के लिए तो दुःखद झेल ही रहे हैं, साथ में यह एक बड़ा क्षेत्रीय संकट है और इसका प्रभाव विनाशकारी है.’

रूस-यूक्रेन संघर्ष के चलते बढ़ते संकट के बीच सोमवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के विशेष आपातकालीन सत्र के दौरान दोनों देशों ने एक-दूसरे पर निशाना साधा. एक तरफ कीव ने संयुक्त राष्ट्र से आह्वान किया कि मॉस्को उसके खिलाफ जारी आक्रामकता को रोके, तो दूसरी तरफ, रूस ने जोर दिया कि उसने शत्रुता की शुरुआत नहीं की और वह युद्ध को समाप्त करना चाहता है. UNGA ने कल आपातकालीन विशेष सत्र में यूक्रेन पर रूसी हमले के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पर चर्चा हुई. इस दौरान रूस ने यूक्रेन पर हमले का बचाव किया.

यूक्रेन से भारतीय छात्रों की वापसी के मामले में कर्नाटक सरकार के नोडल अफसर मनोज रंजन के मुताबिक, केंद्र ने कर्नाटक के छात्र नवीन के मारे जाने की पुष्टि की है. इस बारे में विदेश सचिव से बात हुई है. यह बेहद दुखद है. हम इस दुख की घड़ी में पीड़ित परिवार के साथ खड़े हैं. हमने पीड़ित परिवार से शांति एवं धैर्य बनाए रखने का अनुरोध किया है.

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी यूक्रेन में कर्नाटक के छात्र की मौत पर दुख जताया और पीड़ित परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की. साथ ही उन्होंने यूक्रेन से भारतीयों की निकासी में देरी के लिए मोदी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि इस त्रासदी में भाजपा सरकार के पास निकासी की कोई योजना नहीं है. मोदी सरकार ने हमारे नौजवानों को उनके हाल पर छोड़ दिया है.

(इनपुट एनडीटीवी, ईटीवी भारत)

spot_img
1,717FansLike
247FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe