रमज़ान के दौरान यमन में सैन्य अभियान रोकेगा सऊदी

यमन में युद्ध लड़ रहे सऊदी नीत गठबंधन ने मंगलवार को एकतरफा संघर्ष विराम की घोषणा की. गठबंधन ने कहा कि इस कदम का उद्देश्य वार्ता का मार्ग प्रशस्त करना है, जिसका यमन के हूती विद्रोही बहिष्कार कर रहे हैं.

सऊदी गठबंधन ने कहा कि बुधवार सुबह छह बजे शुरू हुए संघर्ष विराम का मकसद वार्ता के लिये बेहतर माहौल तैयार करना और रमजान के महीने में शांति कायम करने के प्रयासों को शुरू करना है.

हालांकि सऊदी अरब में होने वाली वार्ता में शामिल होने से ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों के इनकार के बाद गठबंधन की संघर्ष विराम की घोषणा को लेकर संदेह पैदा हो गया है. वार्ता सऊदी अरब में स्थित खाड़ी सहयोग संगठन के आह्वान पर होने जा रही है. हूती विद्रोहियों ने मंगलवार रात तक सऊदी अरब की घोषणा पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

बीते दो साल के दौरान गठबंधन द्वारा घोषित संघर्ष विराम नाकाम होते रहे हैं.

सऊदी नीत गठबंधन के प्रवक्ता तुर्की अल-मालिकी ने एक संक्षिप्त बयान में कहा कि ‘गठबंधन रमजान के दौरान संघर्ष विराम को सफल बनाने और सकारात्मक माहौल कायम करने के लिये सभी कदम उठाएगा.’

गठबंधन ने संघर्ष विराम के बारे में कोई अन्य विवरण नहीं दिया. यह स्पष्ट नहीं है संघर्ष विराम कब तक जारी रहेगा और यदि हूती विद्रोहियों ने इसका पालन नहीं किया तो क्या प्रतिक्रिया होगी.

(इनपुट पीटीआई-भाषा)

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe