छात्रों ने पथराव के बाद ट्रेन में लगाई आग, उग्र हुए छात्र, स्थिति काफी चिंताजनक

बिहार के गया जिले से इस वक्त की सबसे बड़ी खबर सामने आ रही है. यहां आरआरबी एनटीपीसी (RRB NTPC Result 2022) परीक्षा के रिजल्ट में कथित धांधली के आरोप को लेकर छात्रों का उग्र प्रदर्शन हुआ है. इसी क्रम में बुधवार को गया जंक्शन (Gaya Junction) पर छात्रों ने रिजल्ट में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए जमकर (Students protest in Gaya) उपद्रव मचाया है. उपद्रवी छात्रों ने पुलिस पर पत्थर बरसाने के बाद कई जगहों पर तोड़फोड़ की. साथ ही एक ट्रेन की बोगी में भी आग लगा दी.

ईटीवी भारत की ख़बर के अनुसार, गया जंक्शन पर रेलवे ट्रैक पर भगदड़ जैसा माहौल है. गया जंक्शन पर हंगामा करने के बाद उत्पात करने वाले छात्रों ने करीमगंज के पास पहले से खड़ी ट्रेन को निशाना बनाया और इस दौरान दो ट्रेनों व 3 इंजन में आग लगा दी. इस आगजनी में ट्रेन की बोगी व इंजन धू-धूकर जलने लगा. इस आगजनी के बाद जिला पुलिस और रेलवे पुलिस के दल ने मौके पर पहुंचकर कमान संभाल लिया है. पुलिस बल ने काफी जद्दोजहद के बाद आग पर काबू पाया. रेलवे की संपत्ति का काफी नुकसान हुआ है.

वहीं, 3 घंटे से पुलिस व छात्रों के बीच पथराव हुआ. उग्र छात्रों को रोकने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है. उपद्रवियों को रोकने के लिए पुलिस को कई राउंड आंसू गैस भी छोड़ने पड़े. साथ ही पुलिस ने उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए बल का प्रयोग किया. फिलहाल स्थिति काफी चिंताजनक बनी हुई है. वहीं इस पूरे मामले पर गया के एसएसपी आदित्य कुमार ने कहा कि अभ्यर्थियों की संख्या दस हजार से अधिक है जो हंगामा कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को चिन्हित भी किया गया है उनपर आगे कार्रवाई की जाएगी.

बता दें कि हाल ही में जारी किए गए आरआरबी एनटीपीसी की परीक्षा के परिणाम में धांधली का आरोप लगाकर छात्र लगातार उग्र प्रदर्शन कर रहे हैं. रेलवे और सरकार के खिलाफ छात्रों का यह प्रदर्शन दिन प्रतिदिन उग्र ही होता जा रहा है. छात्रों को तितरबितर करने के लिए पुलिस ने जमकर लाठियां चलाई और आंसू गैस के गोले दागे.

इससे पहले, आरआरबी एनटीपीसी की परीक्षा के परिणाम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए सैकड़ों छात्र सोमवार को पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल पहुंच गए और जमकर हंगामा करते हुए रेल पटरी जाम कर दिया. इधर, छात्रों के प्रदर्शन के कारण कई ट्रेनों के परिचालन को रद्द कर दिया गया है या उनके मार्ग में परिवर्तन कर चलाया जा रहा है.

अभ्यर्थियों का आरोप है कि 2019 में भर्ती के लिए विज्ञापन निकाला गया। आंदोलन के बाद 2021 में परीक्षा हुई. रिजल्ट जो जारी किया गया, उसमें गड़बड़ी की गई. छात्रों का आरोप है कि जब विज्ञापन निकाला गया था तब एक चरण में परीक्षा लेने के लिए कहा गया था, अब दूसरे चरण की परीक्षा की तिथि निकाली गई है.

spot_img
1,717FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe