रूस-यूक्रेन युद्ध का आज पांचवां दिन: बेलारूस की सीमा पर रूस और यूक्रेन के बीच वार्ता जारी

यूक्रेन के राष्ट्रपति कार्यालय ने सोमवार को कहा कि बेलारूस की सीमा पर रूस के साथ बातचीत के लिए उसका एक प्रतिनिधिमंडल पहुंच गया है. हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि क्या इस बातचीत से युद्ध का कोई समाधान होगा. यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के कार्यालय ने कहा कि वह रूस से तत्काल संघर्षविराम की मांग करेगा. तत्काल यह स्पष्ट नहीं है कि यूक्रेन में अपने युद्ध से या वार्ता से रूस अंततः क्या चाहता है. बता दें, बेलारूस रूस-यूक्रेन युद्ध को रोकने के लिए वार्ता (Russia Ukraine negotiations) की मेजबानी कर रहा है.

गौरतलब है कि रूस के सैनिक यूक्रेन की राजधानी कीव के पास पहुंच गए हैं. ऐसे में यूक्रेन के राष्ट्रपति कार्यालय ने पुष्टि की है कि एक प्रतिनिधिमंडल रूसी अधिकारियों से मुलाकात करेगा. यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के कार्यालय ने टेलीग्राम ऐप पर कहा कि दोनों पक्ष बेलारूस की सीमा पर एक अनिर्दिष्ट स्थान पर मुलाकात करेंगे. राष्ट्रपति कार्यालय ने बैठक का कोई निर्धारित समय नहीं बताया.

वहीं, वार्ता से पहले यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने कहा है कि रूस तुरंत सीजफायर का पालन करे और यूक्रेन से रूस के सैनिकों की वापसी होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि यूक्रेन रूस के खिलाफ लड़ाई में शामिल होने के इच्छुक कैदियों को सैन्य अनुभव के साथ रिहा करेगा.

रूस ने रविवार को घोषणा की कि उसका एक प्रतिनिधिमंडल वार्ता के लिए बेलारूस रवाना हो गया है, जिसके कुछ घंटे बाद यूक्रेन की ओर से यह प्रतिक्रिया आई है.

यूक्रेन के अधिकारियों ने पहले इस प्रस्ताव को यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि वार्ता बेलारूस के बजाय कहीं और होनी चाहिए क्योंकि रूस ने बेलारूस में भारी संख्या में सैनिकों को तैनात कर रखा है. इससे पहले रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने रूसी परमाणु प्रतिरोधी बलों को हाई अलर्ट पर रहने का आदेश दिया. उन्होंने नाटो में शामिल देशों के ‘आक्रामक बयानों’ के जवाब में यह आदेश दिया है.

जेलेंस्की के कार्यालय ने कहा कि पुतिन के सहयोगी बेलारूस के राष्ट्रपति एलेक्जेंडर लुकाशेंको ने ‘यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी ली है कि बेलारूसी क्षेत्र में तैनात सभी विमान, हेलीकॉप्टर और मिसाइल यूक्रेनी प्रतिनिधिमंडल की यात्रा, वार्ता और वापसी के दौरान जमीन पर बने रहें.’

बता दें कि यूक्रेन ने रूस को पिछले चार दिनों से कीव के बाहर रोक कर रखा है. इस बीच यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने कहा है कि अगले 24 घंटे यूक्रेन के लिए सबसे कठिन होने वाले हैं. वहीं जी 7 नेताओं ने यूक्रेन के विदेश मंत्री से बात की. उन्होंने कहा कि रूस के खिलाफ लड़ाई में सभी देश यूक्रेन का समर्थन जारी रखेंगे. इधर, रूसी हमलों में यूक्रेन के 352 आम नागरिकों की मौत हुई है. इसमें 14 बच्चे भी शामिल हैं.

(ईटीवी भारत से इनपुट के साथ)

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe