रूस-यूक्रेन युद्ध: यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने रूस से फिर शांति वार्ता की अपील की

यूक्रेन और रूस के बीच चल रहे संघर्ष को एक महीना पूरा हो चुका है. आज युद्ध का 31वां दिन है. लड़ाई जारी है. यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने रूस से युद्ध को समाप्त करने के लिए फिर से बातचीत करने की अपील की है लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि यूक्रेन शांति के लिए अपने किसी भी क्षेत्र को छोड़ने के लिए सहमत नहीं होगा.

जेलेंस्की राष्ट्र के नाम शुक्रवार रात अपने वीडियो संबोधन में रूसी जनरल स्टाफ के उप प्रमुख कर्नल जनरल सर्गेई रुडस्कोई को जवाब देते हुए दिखाई दिए. रुडस्कोई ने कहा था कि रूसी सेना अब ‘मुख्य लक्ष्य, डोनबास की मुक्ति’ पर ध्यान केंद्रित करेगी. रूस समर्थित अलगाववादियों का 2014 से पूर्वी यूक्रेन के डोनबास क्षेत्र के हिस्से पर नियंत्रण है और रूसी सेना यूक्रेन से और अधिक क्षेत्र को नियंत्रण में करने के लिए जूझ रही है, जिसमें मारियुपोल शहर भी शामिल है.

जेलेंस्की ने उल्लेख किया कि रूसी सेना ने हजारों सैनिकों को खो दिया है लेकिन अब भी वह कीव या खारकीव पर कब्जा करने में सक्षम नहीं है.

वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने यूक्रेन में विध्वंस के बारे में कहा, यह रुक नहीं रहा है. यह एक ‘साइंस फिक्शन फिल्म’ की तरह है. पोलैंड की सीमा के पास दौरा करने के क्रम में उन्होंने अमेरिका के उन हजारों सैनिकों में से कुछ से मुलाकात भी की जिन्हें मानवीय सहायता में मदद करने और नाटो के पूर्वी छोर पर अमेरिकी सेना की उपस्थिति बढ़ाने के लिए पोलैंड की सीमा के समीप भेजा गया है. वहीं, यूक्रेन के मारियुपोल शहर की सरकार ने कहा कि पिछले सप्ताह एक थिएटर पर रूसी हवाई हमले में 300 लोग मारे गए, रूस के हमलों से बचने के लिए लोग इस थिएटर में शरण लिये हुए थे.

बाइडेन ने कहा कि उन्होंने सीमा के और करीब जाने की उम्मीद की थी लेकिन सुरक्षा चिंताओं के कारण उन्हें रोक दिया गया. उन्होंने कहा कि लेकिन फिर भी वह यह रेखांकित करने के लिए पोलैंड की यात्रा करना चाहते थे कि जो सहायता वह मुहैया करा रहा है उसके बड़े परिणाम हैं क्योंकि यूरोप द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद से सबसे बड़े शरणार्थी संकट का सामना कर रहा है.

बता दें कि, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने यूक्रेन पर रूस के हमले के कारण भागकर आए 20 लाख से अधिक शरणार्थियों को पनाह देने के लिए शुक्रवार को पोलैंड की सराहना की. उन्होंने मानवीय विशेषज्ञों से मुलाकात करके इस पर बातचीत भी की कि लोगों की बढ़ती परेशानियों को दूर करने के लिए क्या किया जाना चाहिए. इन सबके बीच रूस के सैन्य जनरल स्टॉफ उप प्रमुख ने कहा है कि यूक्रेन में 1,351 रूसी सैनिक मारे गए हैं.

युद्ध के बीच पोप फ्रांसिस शुक्रवार को यूक्रेन के लिए एक विशेष प्रार्थना सभा का आयोजन कर रहे हैं. उन्होंने इसमें शामिल होने के लिए दुनियाभर के पादरियों और आम लोगों को आमंत्रित किया है. इधर यूक्रेन संकट के कारण भू-राजनीतिक उथल-पुथल शुरू होने के बीच भारत और चीन ने शुक्रवार को तत्काल संघर्षविराम की आवश्यकता और संघर्ष को कम करने के लिए युद्धरत देशों के कूटनीति एवं बातचीत की राह पर लौटने की जरूरत पर सहमति जताई.

(भाषा से इनपुट के साथ)

spot_img
1,712FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe