देवबंदः धार्मिक विद्वान मौलाना सैयद नसीम अख्तर शाह कैसर नहीं रहे

देवबंद: सैयद अजहर शाह कैसर के पुत्र और अल्लामा सैयद अनवर शाह कश्मीरी के पोते मौलाना सैयद नसीम अख्तर शाह कैसर का देवबंद में निधन हो गया. वे प्रसिद्ध विद्वान, दारुल उलूम वक्फ देवबंद के प्रमुख प्राचीन शिक्षक और बीस पुस्तकों के लेखक थे.

आवाज़ द वॉयस की खबर के मुताबिक, मौलाना सैयद नसीम अख्तर शाह कैसर का असली नाम नसीम शाह था और उनका उपनाम नसीम अख्तर शाह कैसर था. उनका जन्म 25 अगस्त 1960 को देवबंद में हुआ था. उन्होंने अपनी शिक्षा दारुल उलूम देवबंद से प्राप्त की थी. इस्लामिया इंटर कॉलेज, देवबंद, एमए, उर्दू से समकालीन शिक्षा का अध्ययन किया.

उन्होंने जनवरी 1973 में निबंध लिखना शुरू किया और 50 से अधिक पुस्तकों पर 1300 से अधिक धार्मिक, शैक्षणिक, बौद्धिक, साहित्यिक, शोध, व्यक्तिगत, सामाजिक और राजनीतिक लेख, राय, तुलना और छापें लिखीं. वह ‘तैयब’ मासिक देवबंद, पाक्षिक ‘इशात हक’ देवबंद, पाक्षिक ‘नदई दारुल उलूम’ देवबंद, पाक्षिक ‘देवबंद टाइम्स’ देवबंद जैसी साहित्यिक और लोकप्रिय पत्रिकाओं के संपादक थे.

उन्होंने ‘हिंदुस्तान एक्सप्रेस’ दिल्ली, ‘हमारा समाज; दिल्ली, ‘खबरी’ डेली दिल्ली जैसे प्रसिद्ध समाचार पत्रों में कई वर्षों तक कॉलम लिखे.

ऑल इंडिया रेडियो दिल्ली की उर्दू मजलिस और सर्विस से आपका प्रसारण भी लोकप्रिय, खास और लोकप्रिय रहा. देश भर में आयोजित विभिन्न शैक्षणिक, धार्मिक, साहित्यिक और शैक्षिक संगोष्ठियों में भाग लिया.

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe