Assembly Elections: निर्वाचन आयोग ने चुनावी रैलियों में ढील दी, अब सभाओं में 1000 लोग हो सकेंगे शामिल

केंद्रीय निर्वाचन आयोग (election commission of India) ने कहा है कि इनडोर चुनावी बैठकों (indoor election meetings) में 500 लोग शामिल हो सकेंगे. चुनावी रैलियों में जनता की संख्या पर निर्वाचन आयोग ने कहा कि रैलियों में 1000 लोगों को अनुमति दी जाएगी. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक चुनावी रैलियों पर 11 फरवरी तक रोक जारी रहेगी.

बता दें कि पांच राज्यों- उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब व मणिपुर में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. गत 27 जनवरी को निर्वाचन आयोग ने कहा था कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के पहले चरण (UP Assembly polls first phase) के तहत राजनीतिक दल और उम्मीदवार शुक्रवार (28 जनवरी से) अधिकतम 500 लोगों के साथ खुले स्थानों पर जनसभाएं कर सकते हैं.
बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए पहले चरण में 58 सीटों पर मतदान (UP elections polling for 58 seats) होगा. आयोग ने कहा था कि दूसरे चरण के मतदान के लिए एक फरवरी से जनसभाएं की जा सकती हैं. दूसरे चरण का चुनाव 14 फरवरी को है.

ईटीवी भारत की ख़बर के अनुसार, इससे पहले निर्वाचन आयोग ने 22 जनवरी को भौतिक रैलियों और रोड शो पर प्रतिबंध को 31 जनवरी तक बढ़ा दिया था. हालांकि, आयोग ने उन क्षेत्रों में 500 लोगों तक की सीमा के साथ भौतिक सभाएं करने की अनुमति दी थी जहां पहले दो चरणों में मतदान होने हैं.

22 जनवरी को निर्वाचन आयोग ने कहा था कि 10 फरवरी को पहले चरण के मतदान वाले क्षेत्रों में राजनीतिक दल और उम्मीदवार 28 जनवरी से ‘भौतिक जनसभाएं’ (Election Commission physical public meetings) कर सकते हैं. चुनाव निकाय ने पहले ही राजनीतिक दलों को अधिकतम 300 लोगों या किसी हॉल की क्षमता का 50 प्रतिशत के साथ ‘इनडोर’ बैठकें करने की अनुमति दी थी.

बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव (up assembly election 2022) के लिए कांग्रेस पार्टी ने 30 स्टार प्रचारकों की सूची (congress star campaigners) में कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के अलावा यूपी प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू शामिल हैं.

इसके अलावा समाजवादी पार्टी के 30 स्टार प्रचारकों की लिस्ट में सपा संरक्षक व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के नाम शामिल हैं. सपा के स्टार प्रचारकों में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा, प्रमुख महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव, सांसद जया बच्चन, पूर्व सांसद व अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, नेता विरोधी दल रामगोविंद चौधरी, राष्ट्रीय महासचिव रामजी लाल सुमन, राष्ट्रीय सचिव रमेश प्रजापति, पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के नाम भी शामिल हैं.

इसके अलावा बीजेपी के 30 स्टार प्रचारकों की सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के अलावा भाजपा के कई वरिष्ठ नेता शामिल किए गए हैं. इस सूची में भाजपा ने सामाजिक संतुलन का पूरा ध्यान रखते हुए समाज के सभी वर्गों के नेताओं को शामिल किया है. मुस्लिम समुदाय से भी मुख्तार अब्बास नकवी को इस सूची में जगह दी गई है.

10 मार्च को आएंगे यूपी चुनाव के नतीजे

बता दें कि उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों के लिए सात चरणों में मतदान 10 फरवरी से शुरू होगा. यूपी में सात चरणों में 10, 14, 20, 23, 27 और 3 और 7 मार्च को वोट डाले जाएंगे. जबकि वोटों की गिनती 10 मार्च को होगी.

10 फरवरी को पहले चरण में पश्चिम यूपी के 11 जिलों की 58 सीटों पर, दूसरा चरण 14 फरवरी को 9 जिलों की 55 सीटों पर, 20 फरवरी को तीसरे चरण में 16 जिलों की 59 सीटों पर मतदान होगा। चौथे चरण में मतदान 23 फरवरी को लखनऊ सहित 9 जिलों की 60 सीटों पर होगा। पांचवे चरण में 27 फरवरी को 11 जिलों की 60 सीटों पर, छठे चरण में 3 मार्च को 10 जिलों की 57 सीटों पर और सातवें और अंतिम चरण का मतदान 7 मार्च को 9 जिलों की 54 सीटों पर किया जाएगा। 17वीं विधानसभा का कार्यकाल (UP Assembly 2022) 15 मई तक है.

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe