महाराष्‍ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक की जेल हिरासत 4 अप्रैल तक बढ़ी

मनी लांड्रिंग के आरोप में गिरफ्तार, महाराष्‍ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) की जेल हिरासत 4 अप्रैल तक बढ़ा दी गई है. मलिक की अर्जी पर अदालत ने उन्हें जेल में बेड और कुर्सी की इजाजत दी है.

बता दें, नवाब को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पिछले माह गिरफ्तार किया था और उन्‍हें प्रवर्तन निदेशालय की रिमांड पर भेजा गया था. केंद्रीय जांच एजेंसी के अधिकारी पिछले माह, एनसीपी नेता मलिक के घर पहुंचे, जहां उनसे एक घंटे पूछताछ की गई थी. इसके बाद उन्हें ईडी दफ्तर लाया गया था और लंबी पूछताछ चली. पूछताछ के बाद मलिक को गिरफ्तार कर लिया गया था.

दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) और उसके गुर्गों की गतिविधियों से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी ने पूछताछ के बाद मलिक को गिरफ्तार किया था.

जानकारी के अनुसार, दाऊद के साथियों के साथ कथित लेन-देन और उनके साथ जमीन के सौदे को लेकर नवाब मलिक से पूछताछ की गई थी.

ईडी का कहना है कि पूछताछ के दौरान नवाब मलिक टाल-मटोल कर रहे थे और उन्होंने जांच में सहयोग नहीं किया. हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय ने कई जगहों पर छापेमारी की थी और इस मामले में दाऊद इब्राहिम के भाई इकबाल कासकर को भी कस्टडी में लिया था. सूत्रों के मुताबिक, जांच के दौरान नवाब मलिक द्वारा खरीदी गई संपत्ति से जुड़े कुछ सबूत सामने आए थे.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने मलिक के सभी विभागों को पार्टी के अन्य मंत्रियों में बांटने का निर्णय लिया है. एक वरिष्ठ नेता ने यह जानकारी दी. इस निर्णय के साथ ही शिवसेना नीत महा विकास आघाडी सरकार में मलिक के पास कोई विभाग नहीं बचेगा. NCP ने मलिक से इस्तीफा नहीं देने को कहने का भी निर्णय लिया है. विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने मलिक के इस्तीफे की मांग की है.

(इनपुट एनडीटीवी)

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe