रूस-यूक्रेन युद्ध: रूस का यूक्रेन के पश्चिमी शहरों में हमले जारी, 20 लाख से अधिक लोग देश छोड़ने पर मजबूर

रूस ने यूक्रेन के पश्चिमी शहरों इवानो-फ्रैंकिव्स्क और लुत्स्क में हवाई अड्डों के पास हमले किए हैं. स्थानीय अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

ये दोनों ही शहर रूस के अभी तक के प्रमुख निशाना रहे इलाकों से काफी दूर हैं. इन शहरों पर हमले रूस द्वारा युद्ध को एक नई दिशा में ले जाने का संकेत देते हैं.

इवानो-फ्रैंकिव्स्क के मेयर रुस्लान मार्टसिंकीव ने हवाई हमले संबंधी अलर्ट जारी होने के बाद स्थानीय लोगों से सुरक्षित स्थानों पर जाने की अपील की है. लुत्स्क के मेयर ने भी हवाई अड्डे के पास हवाई हमले की जानकारी दी है. किसी के हताहत होने की तत्काल कोई जानकारी नहीं मिली है.

इस बीच, कुछ नई उपग्रह तस्वीरें सामने आई हैं, जिनमें यूक्रेन की राजधानी कीव के बाहर एक विशाल काफिला नजर आ रहा है. कीव के पास के कस्बों और जंगलों में सैन्य तैनाती से स्थिति बदतर होने के संकेत मिल रहे हैं.

रूस को अलग-थलग करने और प्रतिबंध लगाने के अंतरराष्ट्रीय प्रयासों के बीच ये तस्वीरें सामने आईं, खासकर बंदरगाह शहर मारियुपोल में एक प्रसूति अस्पताल पर एक घातक हवाई हमले के बाद. अधिकारियों ने इसे युद्ध अपराध करार दिया है.

इस बीच, अमेरिका और अन्य राष्ट्र शुक्रवार को, व्यापार के लिए ‘सबसे पसंदीदा राष्ट्र’ का रूस का दर्जा रद्द करने की घोषणा करेंगे, जो कुछ रूसी आयातों पर उच्च शुल्क लगाने की अनुमति देगा.

वहीं यूक्रेन में रूस के दो सप्ताह से जारी युद्ध में हजारों सैनिक और नागरिक मारे गए हैं तथा 20 लाख से अधिक लोगों को देश से भागने पर मजबूर होना पड़ा है, जिससे यूरोपीय सुरक्षा की नींव हिल गई है. पूरे यूक्रेन में अभी भी आम लोग घेराबंदी में फंसे हैं और उन्हें बिजली, भोजन, दवाओं तथा अन्य महत्वपूर्ण चीजों की कमी का सामना करना पड़ रहा है.

लोगों को उम्मीद थी की तुर्की में रूस और यूक्रेन के विदेश मंत्रियों के बीच हुई बैठक के बाद कोई अच्छा समाचार मिलेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं और वार्ता बेनतीजा रही. इस बीच संघर्ष विराम पर पहुंचने के लिए वार्ता विफल रहने के कारण आपातकालीन कर्मचारियों ने शहरों में भोजन और चिकित्सा आपूर्ति पहुंचाने और निवासियों को बाहर निकालने के प्रयासों को फिर से शुरू कर दिया है.

कीव के मेयर विताली क्लिट्स्को ने आज कहा कि लगभग 20 लाख लोग यूक्रेन की राजधानी के महानगरीय क्षेत्र के आधे निवासी शहर छोड़ चुके हैं जो किला बन चुका है. उन्होंने टेलीविजन पर कहा, हर गली, हर घर …को मजबूत किया जा रहा है. यहां तक ​​कि जिन लोगों ने अपने जीवन में कभी अपने कपड़े बदलने का इरादा नहीं किया, वे अब वर्दी में हैं और उनके हाथों में मशीनगन हैं.

(पीटीआई-भाषा से इनपुट के साथ)

spot_img
1,713FansLike
248FollowersFollow
118FollowersFollow
14,400SubscribersSubscribe